BiharNEWS

बेतिया में अतिक्रमण हटाने गई पुलिस से उलझे ग्रामीण, पुलिस ने खदेड़ा

BETIAH: बेतिया के भोला एमपी चौक से अतिक्रमण हटाने गई पुलिस की टीम को ग्रामीणों के विरोध का सामना करना पड़ा. अतिक्रमणकारीयों ने अतिक्रमण हटाने का विरोध करते हुए जमकर बवाल काटा. इस दौरान अतिक्रमणकारीयों ने पुलिस प्रशासन के साथ हाथापाई भी की. जिसके विरोध में पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर अतिक्रमणकारीयो को शांत कराया और जेसीबी की सहायता से अतिक्रमण हटाने का काम शुरू किया गया.

इसे भी पढ़ें : महंगाई: देश के चार प्रमुख महानगरों में पेट्रोल सौ के पार, जानें-आज कितने की वृद्धि हुई और रांची में क्या है भाव

दरअसल यह पुरा मामला बेतिया नगर निगम क्षेत्र के भोला एमपी चौक की है जहां से लेकर चंद्रावत नदी के तट तक शहर के मुख्य नाले पर वर्षो से अतिक्रमण कर करीब चार दर्जन लोगों ने पक्का निर्माण कर घर बना लिया हैं और यहां लोग वर्षो से रहते चले आ रहें हैं.लिहाजा मुख्य नाले पर अतिक्रमण के कारण शहर में भारी जलजमाव की स्थिति बनी रहती हैं जिससे निजात दिलाने के लिए जिला प्रशासन व नगर निगम ने अतिक्रमण को हटाने का निर्णय लिया था जिसके तहत लोगो को एक माह पहले नोटिस भी जारी किया गया था. बावजूद इसके आज जब दल बल के साथ प्रशासन की टीम अतिक्रमण हटाने पहुंची तो लोग आक्रोशित हो कर विरोध करने लगे और महिलाओं समेत बच्चो को आगे कर पुलिस प्रशासन से भीड़ गए.लेकिन प्रशासन ने कड़ा रूख अख्तियार करते हुए बल प्रयोग किया और अतिक्रमण हटाने की कवायद शुरू कर दी गई हैं.

 

अतिक्रमणकारीयो की माने तो लोग लम्बे समय से यहां घर बनाकर रहते चले आ रहें हैं और इनके समक्ष कोई और दुसरा ठीकाना नहीं हैं तो इस बीच बरसात के मौसम में लोग जाए तो जाए कहां इसको लेकर प्रशासन से वैक्लिपक व्यवस्था की मांग की जा रही हैं. यही वजह है कि लोग अपना आशियाना हटाने को तैयार नहीं हैं तो वहीं नगर निगम जल जमाव से निजात दिलाने को लेकर कार्रवाई में जुटी हैं और हर हाल में नाला समेत नगर निगम क्षेत्र में अतिक्रमित कच्चे व पक्के मकानो को हटाने की कवायद में अधिकारीयो की टीम जुट गई हैं.खुद मौके पर निगम आयुक्त लक्ष्मण प्रसाद,के साथ सदर एसडीएम विधानाथ पासवान के साथ एसडीपीओ सदर मुकूल परिमल पांडेय भारी संख्या में पुलिस बल के साथ मौजुद नज़र आये और लोगो को समझाने का प्रयास करते हुए आगे की कार्रवाई में जुट गए.

Advt

Related Articles

Back to top button