Crime NewsDhanbadJharkhandMain Slider

धनबादः गमुशुदा युवक की लाश मिलने से गुस्साये ग्रामीण ने किया पुलिस पर हमला, रायफल छीनी, थाना प्रभारी और जवान घायल

Dhanbad:  गोलू रवानी का शव खेत में मिलने से भड़के ग्रामीणों ने मंगलवार की सुबह बलियापुर थाना के प्रभारी और पुलिस टीम पर हमला बोल दिया. उग्र ग्रामीणों ने एक कांस्टेबल का रायफल भी छीन लिया. इसमें थाना प्रभारी और एक जवान चोटिल भी हो गये हैं. फिलहाल क्षेत्र में तनाव व्याप्त है. चोटिल थाना प्रभारी को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. सिंदरी डीएसपी प्रमोद केशरी सदलबल घटना स्थल पहुंचे. शव को कब्जे में कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है.

इसे भी पढ़ेंः शारदा चिट फंड केस : SC ने कहा,  राजीव कुमार को गिरफ्तार करना है तो ठोस सबूत दें, इजाजत दे देंगे

 ये है पूरा मामला 

ram janam hospital
Catalyst IAS

बलियापुर थाना क्षेत्र के बेलगड़िया निवासी गोलू रवानी का शव लावारिस अवस्था में सुनसान स्थल पर एक खेत में पड़ा हुआ था. ग्रामीणों को जब इसकी सूचना मिली तो वह सब घटनास्थल पर जमा होने लगे. गोलू की हत्या की घटना से ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त था. इस बीच घटना स्थल पर बलियापुर के थाना प्रभारी वशिष्ठ नारायण सिंह सदलबल पहुंच गये. पुलिस को देखते ही ग्रामीण उग्र हो गये. उग्र ग्रामीणों ने पुलिस दल पर हमला बोल दिया. उन्होंने पुलिस को खदेड़ना शुरू कर दिया. ग्रामीणों के तेवर को भांप पुलिसकर्मी वहां से भाग निकले. लेकिन ग्रामीणों ने पुलिस के एक जवान का रायफल छीन लिया और खेत में जवान को पटक कर उसकी पिटाई की. कुछ ग्रामीणों के हस्तक्षेप के बाद लूटा गया रायफल ग्रामीण वहीं फेंक दिया. इसी क्रम में थाना प्रभारी बशिष्ठ नारायण सिंह पर भी ग्रामीणों ने लाठी डंडा से हमला कर दिया. ग्रामीणों की मार से जवान का सर फट गया है और थाना प्रभारी के हाथ में गम्भीर चोट आई है. दोनों का अस्पताल में इलाज चल रहा है.

The Royal’s
Pushpanjali
Pitambara
Sanjeevani

इसे भी पढ़ेंः राजधानी में हर दूसरे दिन हो रही हत्या, दुष्कर्म के बाद हत्या की घटनाओं में वृद्धि

ग्रामीणों का पक्ष

ग्रामीणों का कहना है कि रविवार 28 अप्रैल को गोलू की गुमशुदा होने की खबर बलियापुर पुलिस को दी गयी थी. बलियापुर थानेदार ने मामले में दिलचस्पी नहीं ली. और मंगलवार को गोलू की लाश मिली. यदि बलियापुर पुलिस ने समय पर कार्रवाई की होती तो संभवतः गोलू जिंदा होता.

पुलिस का पक्ष

धनबाद के पुलिस अधीक्षक (सिटी) पियूष पांडे ने न्यूज़ विंग को घटना की पुष्टि करते हुए कहा कि पहले घायल पुलिसकर्मियों का समुचित इलाज करा लिया जायेगा, उसके बाद आगे की कार्रवाई होगी.

इसे भी पढ़ेंः पीएम किसान योजना के तहत हज़ारों किसानों के खाते में डाले गये पैसे वापस लिये गये

Related Articles

Back to top button