न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बिकने को तैयार है #Vijay_Mallya की फ्रांस की 17 बेडरूम, सिनेमा हॉल, हेलिपैड, नाइट क्लब वाली हवेली

माल्या ने अपनी कंपनी गिज्मो इन्वेस्ट एसए के जरिए 2008 में ल गॉ जादां नाम की यह हवेली खरीदी थी.

107

NewDelhi : शराब कारोबारी विजय माल्या की फ्रांस में मौजूद हवेली, जिसमें 17 बेडरूम, एक सिनेमा हॉल, प्राइवेट हैलिपेड और नाइटक्लब है, बिकने को तैयार है.  खबरों के अनुसार माल्या ने अपनी कंपनी गिज्मो इन्वेस्ट एसए के जरिए 2008 में ल गॉ जादां नाम की यह हवेली खरीदी थी. हवेली खरीदने के लिए विजय माल्या ने कतर नैशनल बैंक की यूनिट अंसबाचर ऐंड कंपनी से मिले लोन में से 3 करोड़ डॉलर (लगभग140 करोड़ रुपये) खर्च किये थे.

इस क्रम में  खबर आयी है कि बैंक ने लंदन हाई कोर्ट को बताया है कि माल्या की कंपनी गिज्मो यह लोन नहीं चुका पा रही है. बैंक ने कोर्ट से मांग की है कि वह माल्या को अपना 50 मीटर का सुपरयाट बेचने को कहे जिसे अभी साउथ इंग्लैंड में जब्त कर रखा गया है. बैंक का कहना है कि 26 करोड़ रुपये के लोन सिक्यॉरिटी के रूप में यह बोट गिरवी  रखी गयी थी.

Aqua Spa Salon 5/02/2020

इसे भी पढ़ें : #Delhi में तीन महीनों के लिए रासुका: LG ने पुलिस कमीश्नर को दिया किसी को हिरासत में लेने का अधिकार

बैंकों का आरोप  है कि माल्या हवेली की रिपेयरिंग नहीं करवा रहे हैं

साथ ही कर्ज नहीं चुकाने वाले माल्या के खिलाफ मुकदमा लड़ रहे बैंकों ने आरोप लगाया है कि माल्या इस हवेली की रिपेयरिंग नहीं करवा रहे हैं,  ताकि इसकी हालत बद से बदतर हो जाये. बैंकों का पक्ष रखने बाले वकील गिडन शिराजी ने एक कोर्ट डॉक्युमेंट्स में कहा कि सितंबर 2015 तक जब लोन बकाया था.

उस समय तक माल्या पर ब्रिटिश मल्टिनैशनल कंपनी डायाजियो पीएलसी ने 10 करोड़ डॉलर (650 करोड़ रुपये) जबकि भारतीय बैंकों ने करीब 9 हजार करोड़ रुपये का मुकदमा कर रखा था.  उस वक्त फ्रेंच आइलैंड इल सैंत मार्ग्युरिट में 1.3 हेक्टेयर की प्रॉपर्टी जीर्ण-शीर्ण अवस्था में जा रही थी.

इसे भी पढ़ें :  इतिहासकार रामचंद्र गुहा ने केरलवासियों से पूछा- आपने राहुल गांधी को क्यों जिताया, ये विनाशकारी है

Gupta Jewellers 20-02 to 25-02

प्रॉपर्टी की  कीमत 72 करोड़ रुपये घट चुकी थी

वकील के अनुसार  माल्या ने जब लोन देने का अनुरोध किया तो बैंक ने उस प्रॉपर्टी की जांच करवाई.  रियल एस्टेट एजेंट्स ने पाया कि इसकी कीमत 1.11 करोड़ डॉलर (करीब 72 करोड़ रुपये) घट चुकी थी.  बैंक के अनुसार प्रॉपर्टी के रंग-रोगन का काम अब भी बाकी है.  माल्या और कतर नैशनल बैंक ने इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है.

माल्या की तरफ से कोर्ट में कोई मौजूद नहीं था. जान लें कि क्रू मेंबर्स को सैलरी नहीं दिये जाने पर याट को जनवरी 2018 में इंश्योरेंस कंपनी स्कल्ड ने जब्त कर लिया था. अब हवेली भी बेचने के लिए रख दी गयी है.

भारतीय बैंकों के पैसे लेकर भागा है माल्या

माल्या को लंदन में 2017 में गिरफ्तार किया गया था. उसपर भारत के 17 बैंकों का 9 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा बकाया है. उसने यह लोन अपनी किंगफिशर एयरलाइंस के लिए लिये थे, जो 2012 में बंद हो गयी.  पिछले महीने 12 बैंकों ने लंदन कोर्ट से गुहार लगाई थी कि वह माल्या को दिवालिया घोषित करे. तब माल्या के वकील ने दलील दी थी कि जब तक उसके मुवक्किल के प्रत्यर्पण केस पर फैसला नहीं आ जाता, तब तक बैंकों की अपील पर सुनवाई नहीं होनी चाहिए.

इसे भी पढ़ें : #Sanjay_Raut ने कहा, सावरकर को भारत रत्न देने का विरोध करने वालों को अंडमान-निकोबार जेल भेजो

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like