न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

Video: थोड़ी सी चूक होते ही यहां मिलती है मौत, अबतक दो मरे 

19

Palamu: पलामू जिला अंतर्गत छत्तरपुर के बारा गांव में महज तीन फीट की दूरी पर हमेशा मौत लटकते रहती है. थोड़ी सी चूक होने पर किसी की जान चली जाती है. यह सिलसिला लंबे समय से चलता आ रहा है, लेकिन बिजली विभाग द्वारा इसमें सुधार को लेकर अबतक कोई कार्रवाई नहीं की गयी है, नतीजा लोगों में भय के साथ आक्रोश व्याप्त है.

45 से 50 लोग हैं प्रभावित

नगर पंचायत अंतर्गत और छत्तरपुर मुख्यालय से महज आधा किलोमीटर की दूरी पर बारा गांव है. यहां दस घरों के 40 से 50 सदस्यों को हमेशा मौत से जूझना पड़ता है. दस घरों की छत्त से 11 हजार वोल्ट का हाइटेंशन तार गुजरा है. छत से तार की दूरी मात्र तीन फीट है. जब तार से करंट प्रवाहित होती है तो लोग भय से छत्त पर जाना मुनासिब नहीं समझते.

छत पर पानी डालने के दौरान हुई मौत 

शनिवार को नये मकान की छत्त पर पानी डाल रहे बारा निवासी गनौरी राम की करंट लगने से मौत हो गयी. गनौरी की छत से भी तीन फीट की दूरी से तार गुजरा हुआ है. इतना ही नहीं मृतक मकान परिसर में ही 11 हजार तार का पोल भी गड़ा हुआ है. मृतक के बड़े भाई लक्ष्मण यादव ने बताया कि 11 हजार तार को हटाने के लिए पलामू के तत्कालीन सांसद कामेश्वर बैठा के कार्यकाल में विद्युत विभाग को आवेदन दिया गया था, लेकिन अबतक कोई कार्रवाई नहीं की गयी है.

विभाग की लापरवाही का आरोप

प्रभावितों में लक्ष्मण यादव, विनोद यादव, विश्वकर्मा, गोपाल चंद्रवशी, सीताराम प्रजापति, शेखर पासवान, प्रभाकर सिन्हा, लक्ष्मी सिंह ने विद्युत विभाग पर लापरवाही का आरोप लगाया है. बताया कि विद्युत विभाग को आवेदन दिए पांच वर्ष से अधिक समय बीत गये हैं. हर दिन बारा में मकान बन रहे हैं और लोग इससे प्रभावित हो रहे हैं.

11 हजार के पोल पर लगे हैं एलटी तार  

बिजली विभाग की लापरवाही यहीं तक सीमित नहीं है. कुछ महीने पूर्व छत्तरपुर मेन रोड एनएच 98 पर पेट्रोल पम्प के कर्मचारी सुदामा प्रसाद की बिजली के करंट से मौत हो गयी थी. 11 हजार और उसी जर्जर खम्भा पर एलटी तार लगाया गया था. जब 11 हजार का तार टूटकर एलटी पर गिरा, जिससे जोरदार करंट प्रवाहित हुआ. इसका असर पेट्रोल पंप तक हुआ. बिजली बंद करने के दौरान सुदामा प्रसाद को जोरदार करंट लगा जिससे उसकी मौत हो गयी. इन घटनाओं के बावजूद भी नगर पंचायत क्षेत्र में 4 किलोमीटर तक 11 हजार पोल के पोल पर एलटी तार लगाया गया है.

घरों की छत्त से गुजरे तारों को किया गया है कवर

छत्तरपुर क्षेत्र के सहायक अभियंता ने बताया कि छत्तरपुर क्षेत्र के बारा इलाके में जिन घरों से उपर से हाइटेंशन तार गुजरा है, उसे कवर किया गया है, ताकि किसी तरह की घटना ना हो. बावजूद इसके घटना होने की जांच की जा रही है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: