न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मसूद अजहर पर वीटो :  19 मार्च को व्यापारी देश भर में चीनी सामान की होली जलायेंगे

UN सिक्योरिटी काउंसिल में चीन द्वारा मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित करने पर वीटो लगाना और लगातार पाकिस्तान की मदद करना देश के व्यापारियों को रास नहीं आ रहा है.

433

NewDelhi :  UN सिक्योरिटी काउंसिल में चीन द्वारा मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित करने पर वीटो लगाना और लगातार पाकिस्तान की मदद करना देश के व्यापारियों को रास नहीं आ रहा है. व्यापारी इसे देश की राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ बड़ा खतरा मान रहे हैं. इसी को लेकर कन्फ़ेडरेशन ऑफ़ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने देश भर के व्यापारियों से चीनी वस्तुओं के बहिष्कार का आह्वान किया है. इस क्रम में कैट ने घोषणा की है कि 19 मार्च को देश भर में हजारों स्थानों पर व्यापारी चीनी सामान की होली जलायेंगे.  एनडीटीवी के अनुसार कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष बीसी भरतिया और राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने कहा कि अब समय आ गया है जब चीन को पाकिस्तान का साथ देने के लिए और हर तरह से पाकिस्तान की मदद करने, जो भारत के विरुद्ध काम आती है, की कीमत चुकानी पड़ेगी.

mi banner add

कहा कि चीन के लिए भारत एक बड़ा बाजार है और यदि इस बाज़ार से चीन को बेदखल कर दिया जाये तो इससे चीन की अर्थव्यवस्था को तगड़ा झटका झेलना होगा.

इसे भी पढ़ेंःन्यूजीलैंड की दो मस्जिद में फायरिंगः 27 लोगों की मौत, बाल-बाल बचे बांग्लादेशी क्रिकेटर

चीनी सामान न बेचें और न ही खरीदें

Related Posts

इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस ने पाकिस्तान के जेल में बंद कुलभूषण जाधव की फांसी पर रोक लगायी

अदालत के प्रमुख न्यायाधीश अब्दुलकावी अहमद यूसुफ मे फैसला पढ़कर सुनाया. 16 में से 15 जज, भारत के हक में थे.

कैट ने देश भर के व्यापारियों से आग्रह किया है कि वो चीनी वस्तुओं का बहिष्कार करते हुए कोई चीनी सामान न बेचें और न ही खरीदें. खबरों के अनुसार इस राष्ट्रीय अभियान में कैट ट्रांसपोर्ट, लघु उद्योग, हॉकर्स, उपभोक्ता आदि के राष्ट्रीय संगठनों को भी जोड़ेगा.  कहा कि ऐसे समय में जब पाकिस्तान भारत के विरुदध आतंकवादी गतिविधियों चला रहा है, ऐसे में चीन द्वारा मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित करने में रोड़ा अटकना एक तरह से भारत के खिलाफ कार्रवाई है. बता दें कि यह लगातार चौथी बार है जब चीन ने मसूद अजहर के मामले में वीटो का उपयोग किया है. इससे साफ़ जाहिर होता है कि चीन पाकिस्तान का खुला समर्थन कर रहा है और करेगा.

इसी कड़ी में यदि चीन को भारत के बाज़ार से बेदखल कर दिया जाये तो शायद चीन को समझ आ जाये. कैट द्वारा सरकार से मांग की गयी है कि चीनी वस्तुओं के आयात पर 300 से 500 प्रतिशत कस्टम ड्यूटी लगाई   जाये.

इसे भी पढ़ेंः शीला का बयान, आतंक के खिलाफ मनमोहन उतने सख्‍त नहीं थे,  जितने मोदी हैं, फिर पेश की सफाई

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: