DhanbadJharkhand

धनबाद में सेहत से खिलवाड़ : #Cancer पैदा करने वाले केमिकल मिलाकर बेची जा रही सब्जियां

Anil Pandey

Dhanbad : धनबाद में कई सब्जी विक्रता आम लोगों की सेहत से खिलवाड़ कर रहे हैं. सब्जियों में धड़ल्ले से केमिकल युक्त रंग का प्रयोग कर बेचा जा रहा है. इस बात की कोई चिंता फूड एंड सेफ्टी विभाग को नहीं है.

डॉक्टरों का कहना है कि इन सब्जियों के सेवन से हमारी सेहत को काफी नुकसान हो सकता है. इससे कैंसर जैसी असाध्य बीमारी होने का खतरा बना रहता है.

इसे भी पढ़ें : #JPSC की कार्यशैली पर लगातार प्रतिक्रिया दे रहे हैं छात्र, पढ़ें-क्या कहा छात्रों ने…. (छात्रों की प्रतिक्रिया का अपडेट हर घंटे)

बासी सब्जियों का रंग बदलने के लिए रंग का इस्तेमाल

खबर में दिखायी गयी तस्वीरें और वीडियो फुटेज झरिया बाजार की हैं. यहां खुलेआम सब्जियों में केमिकल युक्त हरे रंग का प्रयोग किया जाता है.

पूछे जाने पर सब्जी विक्रेता कहते हैं कि ये सब्जियां काफी दूर से आती हैं. दो सौ से तीन सौ किमी की दूरी से ये सब्जियां मंगायी जाती हैं. इनके यहां पहुंचने में दो से तीन दिन का वक्त लग जाता है. इस दौरान सब्जियां पीली पड़ जाती हैं. पीली सब्जियों को ग्राहक खरीदना नहीं चाहते, इसलिए रंग का इस्तेमाल करते हैं.

सब्जी विक्रेता ये भी कहते हैं कि इन रंगों के प्रयोग से सेहत को कोई नुकसान नहीं पहुंचता है, जबकि डॉक्टर केमिकल युक्त सब्जियों के सेवन से कैंसर जैसी घातक बीमारी होने की बात कहते हैं.

इसे भी पढ़ें : #NewTrafficRule घर पर ही भूल गये DL, RC तो No Problem, digi locker नहीं कटने देगा चालान

इन सब्जियों के सेवन से हो सकती है कई तरह की बीमारी : डॉ अग्रवाल

इस मामले में हमने डॉक्टर ओपी अग्रवाल से बात की. उन्होंने बताया कि इन सब्जियों के सेवन से कैंसर जैसी घातक बीमारी होने का खतरा तो रहता ही है, साथ ही अन्य तरह की कई बीमारियां भी इनके सेवन से हो सकती है.

डॉ. अग्रवाल कहते हैं कि हरे केमिकल का उपयोग मुंह से मल निकलने तक हानिकारक होता है. इससे मुंह की बीमारी, गले की फंगस, पाचन में दिक्कत आदि समस्याएं आ सकती हैं.

यह गलत है, हम जांच कर कार्रवाई करेंगे : एसडीएम

वहीं फूड और सेफ्टी के प्रभारी एसडीएम राज महेश्वरम का कहना है कि अगर सब्जी में केमिकल मिलाया जाता है तो ये हानिकारक तो है ही, गलत भी है. खाने के सामान में कोई केमिकल नहीं मिला सकता है. ये फूड सेफ्टी एक्ट का उल्लंघन है, हम इसकी जांच कर कार्रवाई करेंगे.

इसे भी पढ़ें : नेतृत्व चाहे कोई भी हो, निजी हित ही रहा है #JharkhandCongress पर भारी

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: