न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

हरिहरगंज मॉब लीचिंग मामले में अलग-अलग प्राथमिकी, पुलिसिया जांच तेज

59

Palamu : पलामू जिला अंतर्गत  हरिहरगंज थाना  क्षेत्र के एकौनी गांव में गत 2 नवंबर को हुई धीरेंद्र हत्याकांड और एक विवाहिता के साथ दुष्कर्म मामले में अलग-अलग प्राथमिकी दर्ज कराई गयी है. एक पक्ष से रंजू देवी, जबकि दूसरे पक्ष से धीरेंद्र यादव (मृतक) के पिता योगेंद्र यादव द्वारा हरिहरगंज थाना में मामला कराया है. प्राथमिकी के अनुसार गत 2 नवंबर को ढाब खुर्द चौखट निवासी रामसुंदर यादव की पुत्री रंजू देवी अपने मायके से हरिहरगंज बाजार जाने के लिए निकली थी. इसी दौरान जब वह सड़क पर पहुंची तो उसे उसका चचेरा देवर पड़रिया निवासी योगेंद्र यादव के पुत्र धीरेंद्र यादव वह मोटरसाइकिल से आया और रंजू को बहला-फुसलाकर अपने साथ बाजार जाने के लिए तैयार कर लिया.

इसे भी पढ़ें – सोहराबुद्दीन मुठभेड़ : गवाह का दावा- डीजी वंजारा ने दिये थे हरेन पंड्या की हत्या के आदेश

धीरेंद्र ने देखते ही युवक पर चला दी थी गोली 

धीरेंद्र ने रंजू को बताया कि उसकी मौसी की बेटी आ रही है. चलो साथ लेकर बाजार जाएंगे . रंजू और  बाजार न जाकर गिद्दी से एकौनी जाने वाली सड़क से होते डूबाट गांव जाने के लिए निकल गए. रास्ते मे एकौनी गांव जाने वाली सड़क में पहाड़ी के पास पहुंचे तो धीरेंद्र ने अपनी मोटरसाइकिल खड़ी कर दी.  इससे रंजू ने पूछा कि यहां क्यों मोटरसाइकिल लगाएं. इस पर धीरेंद्र ने उसे पिस्टल दिखाया और गोली मारने की धमकी दी. रंजू डर गयी और वह चुपचाप उसके साथ चल दी. इसी बीच धीरेंद्र पहाड़ी के तलहटी के पास ले गया और उसके साथ दुष्कर्म करने लगा.

इसी क्रम में एक लड़का वहां आया और उसने घटना को देखा धीरेंद्र ने उसे देखते ही लड़का पर गोली चला दी. गोली उसके कनपटी में जा लगी. गोली की आवाज सुनकर अगल-बगल के लोग पहुंच गए और धीरेंद्र को पकड़ लिया उसे गांव के लोग अपने साथ ले गए और उसकी पिटाई कर दी. रंजू ने जिस लड़के को गोली लगे उसे नहीं पहचानती थी.

इसे भी पढ़ें – News Wing Impact : IAS हों या सहायक, बिना सूचना बंक मारा तो कटेगा वेतन, ट्रेजरी से जुड़ेगा बायोमिट्रिक अटेंडेंस

ग्रामीणों की पिटाई से हुई थी धीरेंद्र की मौत

इधर पड़रिया निवासी योगेंद्र यादव ने कहां है कि उसका पुत्र धीरेंद्र यादव मौसी के घर डूबाट जाने के लिए घर से निकला था. उसकी खोजबीन करने पता चला कि उसे एकौनी गांव में पिटाई की गयी है. और गंभीर हालत में उसे इलाज के लिए  हरिहरगंज सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में लाया गया है. पता करने पर पता चला कि उसे इलाज के लिए औरंगाबाद भेज दिया गया है . औरंगाबाद सदर अस्पताल में जाने पर देखा गया कि धीरेंद्र मृत पड़ा है. योगेंद्र  यादव ने मारपीट करने वाले ग्रामीणों पर उचित कानूनी कार्रवाई करने की मांग की है. पुनि सह थाना प्रभारी वंश नारायण सिंह ने बताया कि दोनों तरफ से प्राथमिकी दर्ज की गयी है. मामले की छानबीन तेज कर दी गयी है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: