न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#Varanasi’s_Tragic_Incident : कर्ज से परेशान व्यवसायी ने पत्‍नी, बेटे-बेटी के साथ आत्‍महत्‍या कर  ली

ऋतु ने लिखा है कि परिवार के सदस्यों का भी जिस तरह सहयोग मिलना चाहिए था, कभी नहीं मिला. सूसाइड नोट में बेटे-बेटी के हवाले से लिखा है कि हमें नींद की दवा खिलाकर सुला देना पापा, इसके बाद गला दबा देना.

139

Varanasi : वाराणसी में घाटे और कर्ज से परेशान एक व्यवसायी ने पत्‍नी, बेटे और बेटी की जान लेने के बाद खुद आत्‍महत्‍या कर ली. एक परिवार की आत्महत्या की दिल दहला देने वाली यह घटना शहर के आदमपुर इलाके के नचनी कुआं मोहल्‍ले में घटी है. मरने से पहले व्यवसायी ने अपने खतरनाक इरादे के बारे में पुलिस को फोन कर सूचना दी थी. पुलिस की जांच के अनुसार पूरा परिवार 23 दिन से आत्‍महत्‍या की तैयारी कर रहा था.

चेतन ने फोन कर पुलिस को सूचना दी कि वे सभी आत्‍महत्‍या करने जा रहे हैं

जानकारी के अनुसार कारोबारी चेतन तुलस्‍यान (45) परिवार के साथ रहते थे, मकान के निचले तल पर माता-पिता और ऊपर चेतन, पत्‍नी ऋतु (42), बेटे हर्ष (19) और बेटी हिमांशी (17) रहते थे. सुबह 4.35 बजे चेतन ने डायल 112 पर फोन कर सूचना दी कि वह परिवार के साथ आत्‍महत्‍या करने जा रहे हैं. इसके बाद जब पुलिसकर्मी उनका फोन मिलाने लगे तो कॉल रिसीव नहीं हुई. बमुश्किल खोजते हुई पुलिस उनके घर पहुंची. उनके पिता रविंद्रनाथ ने दरवाजा खोला.

Aqua Spa Salon 5/02/2020

इसे भी पढ़ें : #Supreme_Court ने उमर अब्दुल्ला की हिरासत पर जम्मू-कश्मीर प्रशासन को नोटिस भेजा, 2 मार्च तक मांगा जवाब

ऋतु का शव बेड पर था और चेतन का शव फंदे से लटक रहा था

पुलिस के पूछने पर पिता ने कहा कि घर में सब कुछ ठीक है. चेतन के बारे में पूछने पर रविंद्रनाथ ऊपर गये तो कमरे का दरवाजा नहीं खुला. बाद में पुलिस ने दरवाजा तोड़कर देखा तो अंदर एक कमरे में बिस्तर पर हर्ष और हिमांशी मृत पड़े थे. दूसरे कमरे में ऋतु का शव बेड पर था और चेतन का शव फंदे से लटक रहा था. कमरे में नींद की दवा की शीशी मिली.

पुलिस को 12 पेज का सूसाइड नोट मिला

दंपती और दो बच्‍चों की मौत की सूचना मिलने से इलाके में हड़कंप मच गया. आईजी रेंज विजय सिंह मीणा, एसएसपी प्रभाकर चौधरी और एसपी सिटी दिनेश कुमार सिंह मौके पर पहुंचे. फॉरेंसिक विभाग की टीम भी पहुंची. कमरे से पुलिस को 12 पेज का सूसाइड नोट मिला है. इसे व्यवसायी की पत्‍नी ने लिखा है.

इसे भी पढ़ें : #Revenue_Dues पर सरकार और टेलिकॉम कंपनियों को सुप्रीम कोर्ट की फटकार,  17 मार्च को कोर्ट में तलब किया  

हमें नींद की दवा खिलाकर सुला देना पापा, इसके बाद गला दबा देना

पुलिस के अनुसार सूसाइड नोट में कारोबार में घाटे के चलते आर्थिक तंगी बयां करने के साथ ऋतु ने लिखा है कि 20 साल पहले जब वह शादी करके वाराणसी आयी तो लगा कि खुशहाल परिवार में शादी हो रही है. पता चला कि पति को कम दिखने की लाइलाज बीमारी है. परिवार के सदस्‍यों का भी जिस तरह सहयोग मिलना चाहिए था, कभी नहीं मिला. सूसाइड नोट में बेटे-बेटी के हवाले से लिखा है कि हमें नींद की दवा खिलाकर सुला देना पापा, इसके बाद गला दबा देना.

Gupta Jewellers 20-02 to 25-02

परिवार 23 दिन पहले से मौत की तैयारी कर रहा था.

एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने बताया कि मौके से मिले सूसाइड नोट और दवाएं आदि देखकर प्रतीत होता है कि पूरी तैयारी और आपसी सहमति से परिवार ने जान दी. सूसाइड नोट के साथ स्टैंप पेपर पर लिखा एफिडेविट भी मिला है. इसे पिछले महीने 22 जनवरी को बनवाया गया था. इस पर चेतन तुलस्‍यान की तरफ से लिखा है कि मरने के बाद उनकी पूरी संपत्ति गोरखपुर में रहने वाले साले को दे दी जाये.

एफिडेविट से साफ है कि कारोबारी और उनका परिवार 23 दिन पहले से मौत की तैयारी कर रहा था. सूसाइड नोट और एफिडेविट को फॉरेंसिक टीम ने कब्‍जे में लिया है. वाराणसी शहर में चार महीने के इस तरह की यह दूसरी घटना है, इससे पहले 30 अक्‍टूबर को हुकुलगंज इलाके में कर्ज और बीमारी से परेशान किशन गुप्‍ता ने पत्‍नी नीलम, बेटी शिखा ओर बेटे उज्‍जवल के साथ मौत को अपना लिया था.

इसे भी पढ़ें : #NPR को लेकर कांग्रेस में रार, पी चिदंबरम के बहाने संजय निरुपम ने आला कमान पर सवाल दागे  

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like