Corona_UpdatesJharkhandRanchi

vaccination in Jharkhand : स्टॉक में वैक्सीन नहीं, रोजाना ढाई लाख वैक्सीनेशन का निर्देश

Ad
advt

Ranchi: झारखंड स्वास्थ्य विभाग के इस आदेश का क्या कहना? विभाग के स्टॉक में 4.67 लाख कोरोना वैक्सीन का डोज है और विभाग ढ़ाई लाख लोगों को रोजाना टीका देने का आदेश जारी कर दिया है. जाहिर है इस रफ्तार से दो दिन भी टीकाकरण संभव नहीं है. विभाग इस उम्मीद में है कि जल्द ही केंद्र से टीके का खेप मिलेगा. इस स्थिति में कहा जा सकता है कि केंद्र से टीका मिलने या राज्य मुख्यालय से जिलों को आवंटन में एक दिन की भी देरी होती है तो टीकाकरण बाधित होना तय है.

अन्य राज्यों की तुलना में झारखंड में टीकाकरण की गति धीमी होने के मद्देनजर राज्य सरकार ने वैक्सीनेशन की गति बढ़ाने का फैसला लिया है. इसे ध्यान में रखते हुए हेल्थ डिपार्टमेंट ने सभी जिलों के डीसी को टारगेट भी भेज दिया गया है. तय टारगेट के अनुसार पूरे झारखंड में ढाई लाख लोगों को वैक्सीन लगाने का टारगेट दिया गया है.

advt

इसे भी पढ़ें :तेजस्वी के ऑफर पर चिराग की चुप्पी, आशीर्वाद यात्रा की तैयारी में जुटे

2 से तीन दिन का स्टॉक अवेलेबल

अबतक के स्टॉक के बारे में बात करें गुरुवार 24 जून तक झारखंड में 4 लाख 67,074 डोज अवेलेबल था. वहीं अगले महीने मिलने वाली डोज को उसमें जोड़ दिया जाए तो भी 29 लाख 52224 डोज उपलब्ध होगा. ऐसे में वैक्सीनेशन का कार्य 10-12 दिन से ज्यादा नहीं चल पाएगा. दूसरे राज्यों में एक-एक दिन में 3-5 लाख लोगों को वैक्सीन लगाई जा रही है. यह देखते हुए ही झारखंड में भी टारगेट को बढ़ा दिया गया. लेकिन इसके बारे में हेल्थ डिपार्टमेंट ने एकबार भी नहीं सोचा कि वैक्सीन कैसे आएगी.

advt

अगले महीने मिलेंगे 25 लाख डोज

हेल्थ डिपार्टमेंट ने एक दिन में ढाई लाख डोज लगाने का टारगेट रखा है. इसके हिसाब से जुलाई तक 82 लाख 50 हजार डोज की जरूरत होगी, लेकिन सेंट्रल से स्टेट को अगले महीने की अंतिम तारीख तक कोविड वैक्सीन की 33 लाख 13,540 डोज झारखंड को दी जानी है. उसमें से 24 लाख 85,150 डोज सरकार की ओर से फ्री में दी जाएगी. ये वैक्सीन गवर्नमेंट सेंटर पर लगाए जाएंगे, जबकि 8 लाख 28,390 डोज चार्ज लेकर प्राइवेट हॉस्पिटल्स को दिया जाएगा. इसमें कोविशील्ड और कोवैक्सीन दोनों की डोज शामिल है.

इसे भी पढ़ें : छेड़छाड़ से रोका तो मनचले ने भरे बाजार में महिला सिपाही को पीटा, वर्दी भी फाड़ी

आइइसी के नोडल आफिसर सिद्धार्थ त्रिपाठी ने बताया कि हमने एक-एक दिन में एक लाख का आंकड़ा पार कर लिया है. हमारी कैपेसिटी एक दिन में ढाई लाख तक लगाने की है. इसलिए हमें उम्मीद है कि जितनी ज्यादा वैक्सीन हमलोग लगाएंगे उस हिसाब से सरकार भी हमें उपलब्ध कराएगी. अब देखना है कि इसमें हमारा प्रायस कहां तक सफल हो पाएगा.

advt
Adv

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: