Lead NewsNationalUttar-Pradesh

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री Yogi adityanath ने खेला नया दांव, जानिये अब क्या फैसला लिया

Lucknow : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने फैसलों के लिए अक्सर चर्चा में रहते हैं. अब एक बार फिर से योगी आदित्यनाथ सरकार ने नया दांव खेला है. योगी सरकार ने 90 के दशक की शुरुआत में अयोध्या आंदोलन के दौरान अपने प्राणों की आहुति देने वालों के सम्मान में सड़कों का नाम उनके नाम पर रखने का फैसला किया है.

इसे भी पढ़ें :मंत्री पद से हटाये गये बाबुल सुप्रियो के दर्द को बेदर्दी से कुचला दिलीप घोष ने, जानें क्या कहा

उपमुख्यमंत्री केशव मौर्य ने दी जानकारी

उपमुख्यमंत्री केशव मौर्य ने कहा है कि सरकार 90 के दशक की शुरुआत में राम मंदिर आंदोलन के दौरान मारे गए कारसेवकों के नाम पर राज्य में सड़कों का नाम रखेगी.

उन्होंने कहा, सड़कों को बलिदानी राम भक्त मार्ग कहा जाएगा यह कारसेवकों के घर की ओर जाएगी, जिसमें मृतक का नाम तस्वीर पट्टिका पर प्रदर्शित होगी.

advt

इसे भी पढ़ें :कोरोना में नक्सलियों के सामने गोल्डन चांस: मुख्यधारा में लौटें, पुलिस करायेगी इलाज

मौर्य बोले, सपा सरकार ने निहत्थे राम भक्तों पर चलवाईं थी गोलियां

मौर्य ने कहा, कारसेवक 1990 में रामलला के दर्शन के लिए अयोध्या आए थे. तत्कालीन सपा सरकार ने निहत्थे भगवान राम भक्तों पर गोलियां चलाई थीं. कई कारसेवक मारे गए थे. आज, मैं घोषणा करता हूं कि यूपी में ऐसे सभी कारसेवकों के नाम पर सड़कें बनाई जाएंगी.

मौर्य ने आगे कहा कि बाहरी आंतरिक शत्रुओं से लड़ते हुए अपने प्राणों की आहुति देने वाले सैनिकों पुलिस अधिकारियों के सम्मान में जय हिंद वीर पथ का निर्माण किया जाएगा. नवंबर 1990 में अयोध्या में पुलिस गोलीबारी में सोलह कारसेवक मारे गए थे. भाजपा का दावा है कि यह संख्या बहुत अधिक थी.

इसे भी पढ़ें :रामगढ़ पुलिस पर विधायक ममता ने लगाये कई आरोप, कहा- अवैध कारोबार में पुलिस की मिलीभगत

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: