न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

अमेरिका ने भारत-चीन को दी धमकी, ईरान से तेल का आयात चार नवंबर तक बंद करें, नहीं तो लगेगा प्रतिबंध

61

NewDelhi  : अमेरिका ने भारत, चीन सहित अऩ्य देशों को धमकी दी है कि यदि वे ईरान से कच्चा तेल का आयात चार नवंबर तक बंद नहीं करेंगे तो उस पर आर्थिक प्रतिबंध लगाये जा सकते हैं. अमेरिका ने  कहा है कि अगर कोई भी देश तेल खरीदता है तो इस मामले में कोई छूट नहीं दी जायेगी. बता दें  कि  भारतइराक और सऊदी अरब के बाद सबसे ज्यादा कच्चा तेल ईरान से खरीदता है. जानकारी के अनुसार  2017-18 में अप्रैल से जनवरी तक  ईरान से 1.84 टन तेल भारत आया था. पिछले माह अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने ईरान परमाणु समझौते से हटने की घोषणा की थी. साथ ही अमेरिकी प्रतिबंधों को फिर से लगाने का ऐलान किया था जो समझौता होने के बाद हटा लिये गये थे.

इसे  भी  पढ़ें  :  मैं बैंक डिफॉल्ट करने वालों का पोस्टर ब्वाॅॅय बन गया हूं : विजय माल्या

अमेरिका ने ईरानी कंपनियों के साथ कारोबार बंद करने के लिए 90 से 180 दिन का समय दिया था

उस समय ट्रंप प्रशासन ने विदेशी कंपनियों को उनकी वाणिज्यिक गतिविधियों के हिसाब से ईरानी कंपनियों के साथ कारोबार बंद करने के लिए 90 से 180 दिन का समय दिया था. मौजूदा  हालात में अमेरिका भारत और चीन सहित सभी देशों पर ईरान से कच्चे तेल की खरीद पूरी तरह बंद करने की धमकी दे रहा है. अमेरिकी विदेश विभाग के एक अधिकारी के अनुसार सभी देशों को चार नवंबर तक ईरान से कच्चे तेल का आयात बंद करना होगा. अधिकारी से जब पूछा गया कि क्या भारत और चीन को भी ईरान से तेल का  आयात रोकने को कहा गया है तो उसने कहा, यह पाबंदी भारत और चीन पर अन्य सभी देशों पर लागू होगी.

इसे  भी  पढ़ें  : मुद्रास्फीति पर कच्चे तेल की बढ़ती कीमतों का असर नहीं, देश की अर्थव्यवस्था मजबूत : मोदी

भारत और चीन ईरानी कच्चे तेल के प्रमुख आयातक हैं

भारत और चीन ईरानी कच्चे तेल के प्रमुख आयातक हैं. अधिकारी ने कहा कि भारत और चीन की कंपनियों को ईरान से तेल का आयात बंद नहीं करने पर 2015 से पहले लगाये गये प्रतिबंधों का फिर सामना करना पड़ेगा. हम सभी देशों से आग्रह कर रहे हैं कि वे ईरान से कच्चे तेल के आयात को शून्य पर लायें. अधिकारी ने कहा कि इन देशों को अभी से ईरान से तेल आयात कम करना चाहिए और चार नवंबर तक इसे पूरी तरह बंद करना चाहिए. अधिकारी के अनुसार यह ट्रंप प्रशासन की ईरान के वित्तपोषण के स्रोत को अलग-थलग करने की रणनीति का हिस्सा है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं. 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: