न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

अमेरिकी सेना ने #ISIS सरगना #AbuBakrAlBaghdadi को ढेर कर दिया, राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने दी जानकारी

राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि पिछली रात अमेरिकी सेना ने बगदादी को मार गिराया. वह दुनिया के सबसे क्रूर और हिंसक आतंकी संगठन आईएसआईएस का संस्थापक था.

80

Washington :  आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट का कुख्यात सरगना अबू बकर अल-बगदादी शनिवार को उत्तरपूर्वी सीरिया में अमेरिकी विशेष बलों के हमले में मारा गया.  अमेरिकी मीडिया ने रविवार को यह खबर प्रकाशित की है. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप  ने रविवार की शाम जानकारी दी कि ISIS के सरगना अबु बक्र अल-बगदादी को अमेरिकी सेना ने मार गिराया है. राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि पिछली रात अमेरिकी सेना ने बगदादी को मार गिराया. वह दुनिया के सबसे क्रूर और हिंसक आतंकी संगठन आईएसआईएस का संस्थापक था.

इसे भी पढ़ें : ब्रिटेन सरकार की ISIS दुल्हनों के बच्चों को वापस लाने की योजना, रक्षा मंत्रालय कर रहा विरोध

Aqua Spa Salon 5/02/2020

बगदादी ने एक सुरंग में अपने सुसाइड वेस्ट में धमाका कर लिया

डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि एक सुसाइड वेस्ट में धमाके के बाद बगदादी मारा गया. उसको रोते और चिल्लाते हुए देखा गया, जब सुरक्षाबलों ने राष्ट्रपति ट्रंप ने आगे बताया, अबु बक्र अल-बगदादी ने एक सुरंग में अपने सुसाइड वेस्ट में धमाका कर लिया. इसमें उसके 3 बच्चे भी मारे गये. बगदादी कायर की तरह मारा गया. इससे पहले व्हाइट हाउस के उप प्रेस सचिव होगन गिड्ले ने कहा था  कि राष्ट्रपति ट्रंप रविवार सुबह में बड़ी घोषणा करनेवाले हैं.

एक प्रशासनिक अधिकारी को उद्धृत करते हुए सीएनएन ने कहा कि यह घोषणा विदेश नीति से जुड़ी है. वहीं न्यूजवीक ने अपनी खबर में बताया है कि दुनिया को सबसे ज्यादा जिस व्यक्ति की तलाश थी सभवत: वह मारा गया. इससे पहले ट्रंप ने बिना विस्तृत जानकारी दिये ट्वीट किया,कुछ बहुत बड़ा हुआ है.

इसे भी पढ़ें : हरियाणा में भाजपा को जनता ने चेतावनी दी है- पढ़िये #RSS के मुख्यपत्र पांचजन्य का चुनावी परिणाम पर नजरिया

Related Posts

#Delhi_Violence : ट्रंप के बयान पर बर्नी सैंडर्स सहित कई american सांसद बरसे, कहा,  यह मानवाधिकार पर नेतृत्व की विफलता

बुधवार को अंतरराष्ट्रीय धार्मिक स्वतंत्रता पर अमेरिकी आयोग ने भारत सरकार ने अनुरोध किया था कि भारत अपने नागरिकों की सुरक्षा के लिए तेजी से कार्रवाई करे.

बगदादी ने खुद को खलीफा भी घोषित कर रखा था

खबर है कि अमेरिकी सेना की कार्रवाई में अबु बक्र अल-बगदादी के काफी समर्थक भी मारे गये.  अभियान से जुड़े पेंटागन के एक वरिष्ठ अधिकारी और सेना के अधिकारी के हवाले से कहा गया गया है कि बगदादी सीरिया में इस्लामिक स्टेट के अंतिम गढ़ में बेहद गुप्त अभियान के निशाने पर था.  पेंटागन के एक अधिकारी ने कहा कि जब अमेरिकी बल इदलिब के बारिशा गांव में एक परिसर में घुसे तो छिटपुट गोलीबारी हुई और बगदादी ने आत्मघाती जैकेट में विस्फोट कर खुद को उड़ा लिया.

बगदादी ने खुद को खलीफा भी घोषित कर रखा था और वह सार्वजनिक तौर पर सिर्फ एक बार जुलाई 2014 में मोसुल के अल-नूरी मस्जिद में नजर आया था और इराक तथा सीरिया में इस्लामिक स्टेट के जन्म की घोषणा की थी.इस मस्जिद पर इराकी सुरक्षाबलों ने 2017 में कब्जा कर लिया था. जान लें कि  खूंखार आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट का सरगना अबू बक्र अल-बगदादी इसी साल अप्रैल में जारी एक वीडियो में पांच साल में पहली बार दिखाई दिया था.

अबू बक्र अल बगदादी की मौतआईएसआईएस के लिए  झटका : ऑस्ट्रेलिया 

आईएसआईएस के मुखिया अबू बक्र अल बगदादी की मौत को आईएसआईएस के लिए बड़ा झटका करार देते हुए ऑस्ट्रेलिया सरकार ने सोमवार को कहा कि बगदादी ने नस्ली सफाया, यौन दासता और मानवता के खिलाफ अन्य अपराधों के आदेश दिये थे. ऑस्ट्रेलियाई विदेश मंत्री मैरिस पाइन ने कहा कि बगदादी की अगुवाई में दुर्दान्त आतंकी गुट ने इराक और सीरिया में बड़े पैमाने पर विनाश किया. उसने आईएसआईएस के सदस्यों को दुनिया भर में बेकसूर लोगों के खिलाफ कायरतापूर्ण हमले करने के लिए आदेश दिया या उन्हें प्रेरित किया. बेकसूर लोगों में से कई ऑस्ट्रेलियाई थे.

इसे भी पढ़ें : जम्मू-कश्मीरः इंटरनेट बंद रहने से कारोबारियों को 10,000 करोड़ रुपये का नुकसान

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like