National

भारत का स्पेशल ट्रेड स्टेटस वापस लेने का अमेरिकी सरकार का फैसला खतरे की घंटी : कांग्रेस

NewDelhi : अमेरिकी सरकार द्वारा भारत का स्पेशल ट्रेड स्टेटस 5 जून 2019 से वापस लिये जाने पर कांग्रेस ने मोदी सरकारपर हमला बोला है, बता दें कि कांग्रेस संसदीय दल की बैठक में सोनिया गांधी को नेता चुने जाने के बाद से पार्टी आक्रामक दिख रही है. कांग्रेस  मोदी सरकार पर निशाना साध रही है.  कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि अमेरिकी सरकार द्वारा भारत का स्पेशल ट्रेड स्टेटस 5 जून 2019 से वापस लिया जाना खतरे की घन्टी है.

ram janam hospital

इसे भी पढ़ें- अमेरिका : वर्जीनिया में सरकारी परिसर में गोलीबारी, 11 की मौत, छह घायल

यह स्टेटस 44 साल पहले इंदिरा गांधी के वक्त मिला था

यह स्टेटस 44 साल पहले इंदिरा गांधी के वक्त मिला था. कहा कि इस वजह से निर्यात प्रभावित होगा. सुरजेवाला ने कहा कि बेरोजगारी चरम पर है. जीडीपी (GDP) पांच साल में निचले पायदान पर है. अब निर्यात प्रभावित होने से बेरोजगारी और बढ़ेगी.

कहा कि चार  मार्च 2019 को सरकार को बता दिया गया था लेकिन सरकार ने इसको रोकने के लिए ठोस कदम नहीं उठाया? प्रधानमंत्री इस मसले पर बयान दें और बतायें  कि इस गंभीर आर्थिक संकट से देश को उबारने के लिए क्या करने वाले हैं?

कांग्रेस ने मोदी सरकार पर हमला करते हुए कहा कि सरकार ने पहले दिन ही आम आदमी को झटका दे दिया. बिना सब्सिडी वाला सिलिंडर 25 रुपये, सब्सिडी वाले  सिलिंडर  का दाम 1.23 रुपये बढ़ा दिया. पार्टी ने प्रधानमंत्री मोदी  से मांग करते हुए कहा कि उज्ज्वला लाभार्थियों और गृहिणियों को ध्यान में रखते हुए ये बढ़ोतरी वापस ली जानी चाहिए.

इसे भी पढ़ें- मोदी सरकार को झटका : ट्रंप ने GSP के तहत भारत को व्यापार में मिली छूट को किया खत्म

लाभार्थी विकासशील देश का दर्जा खत्म कर दिया

बता दें कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने जीएसपी व्यापार कार्यक्रम के तहत भारत को प्राप्त लाभार्थी विकासशील देश का दर्जा खत्म कर दिया है. ट्रंप ने कहा कि भारत ने अमेरिका को अपने बाजार तक समान और तर्कपूर्ण पहुंच देने का आश्वासन नहीं दिया है.

जेनरेलाइज सिस्टम ऑफ प्रेफरेंस (जीएसपी) अमेरिका का सबसे बड़ा और पुराना व्यापार तरजीही कार्यक्रम है. इसका लक्ष्य लाभार्थी देश के हजारों उत्पादों को बिना शुल्क प्रवेश की अनुमति देकर आर्थिक विकास को बढ़ावा देना है.

Advt
Advt

Related Articles

Back to top button