BusinessNational

Jio प्लेटफॉर्म्स में 11,367 करोड़ का निवेश करेगी अमेरिकी कंपनी KKR 

New Delhi: रिलायंस इंडस्ट्रीज ने अमेरिकी कंपनी केकेआर को 11,367 करोड़ रूपये में जियो प्लेटफार्म्स की 2.32 फीसदी हिस्सेदारी बेचने की शुक्रवार को घोषणा की. गौरतलब है कि बीते एक महीने में मुकेश अंबानी की कंपनी द्वारा किया जाने वाला यह पांचवा बड़ा सौदा है.

इसे भी पढ़ें- बिहार: कोरोना वायरस के 211 मामले, 2 हजार के करीब पहुंचा आंकड़ा

फेसबुक के निवेश के साथ शुरू हुआ था सिलसिला

केकेआर ने इस करार में रिलायंस समूह की डिजिटल कारोबार इकाई जियो प्लेटफॉर्म्स को शेयर के हिसाब से कुल 4.91 लाख करोड़ रुपये मूल्य का आंका है. करीब एक महीने पहले फेसबुक के निवेश के साथ, जियो प्लेटफॉर्म्स में निवेश का सिलसिला शुरू हुआ था. अब तक कुल पांच बड़े निवेशकों द्वारा जियो प्लेटफॉर्म्स में कुल 78,562 करोड़ रूपये का निवेश हो चुका है.

फेसबुक के बाद विश्व के अग्रणी निवेशक सिल्वर लेक, विस्टा इक्विटी पार्टनर्स, जनरल अंटलांटिक और अब केकेआर ने कंपनी में निवेश किया. यह एशिया में केकेआर का सबसे बड़ा निवेश है.

रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन व प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी ने कहा कि दुनिया के सबसे सम्मानित वित्तीय निवेशकों में से एक केकेआर का एक महत्वपूर्ण साझेदार के रूप में स्वागत करते हुए मुझे प्रसन्नता हो रही है. केकेआर भारतीय डिजिटल इको सिस्टम में बदलाव की हमारी यात्रा का हमसफर बनेगा.  यह सभी भारतीयों के लिए लाभप्रद होगा.

इसे भी पढ़ें- #Coronaupdate: संक्रमण से दुनिया का 11वां सबसे अधिक प्रभावित देश भारत, एक लाख 18 हजार से ज्यादा बीमार

जियो एक सच्चा स्वदेशी प्लेटफॉर्म:हेनरी क्राविस

अंबानी ने कहा कि केकेआर, भारत में एक प्रमुख डिजिटल सोसाइटी के निर्माण के हमारे महत्वाकांक्षी लक्ष्य को साझा करता है. एक महत्वपूर्ण भागीदार होने का केकेआर का ट्रैक रिकॉर्ड शानदार है. हम जियो को आगे बढ़ाने के लिए केकेआर के वैश्विक प्लेटफॉर्म, इंडस्ट्री की जानकारियां और परिचालन विशेषज्ञता का लाभ उठाने की उम्मीद करते हैं.

केकेआर के सह-संस्थापक हेनरी क्राविस ने कहा कि देश के डिजिटल इको सिस्टम को बदलने की ऐसी क्षमता कुछ कंपनियों के पास ही होती है जैसा की जियो प्लेटफॉर्म्स के पास है. यह एक सच्चा स्वदेशी प्लेटफॉर्म है जो भारत में डिजिटल क्रांति कर रहा है और इसके पास देश को प्रौद्योगिकी समाधान और सेवाएं देने की बेजोड़ क्षमता है.

हम जियो प्लेटफॉर्म्स की प्रभावशाली गति, विश्व स्तरीय इनोवेशन और मजबूत नेतृत्व टीम के कारण निवेश कर रहे हैं. इस निवेश को हम भारत और एशिया प्रशांत में अग्रणी प्रौद्योगिकी कंपनियों के समर्थन के लिए केकेआर की प्रतिबद्धता के रूप में देखते हैं.

इसे भी पढ़ें- #Ranchi: झारखंड अग्निशमन विभाग के कंट्रोल रूम में लगी आग

Telegram
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close