ChatraJharkhandLead NewsRanchi

चतरा के 24 बंधुआ मजदूरों को यूपी की बिजनौर पुलिस ने कराया मुक्त, सात आरोपी गिरफ्तार

Ranchi: झारखंड के चतरा जिले के विभिन्न इलाको से 24 बंधुआ मजदूरो को पिकअप में लादकर यूपी के बिजनौर बेचने जा रहे तस्कर बिजनौर पुलिस के हत्थे चढ़ गया. इसमें एक दर्जन नाबालिग शामिल हैं. यूपी बिजनौर एएचटीयू और बाल कल्याण विभाग की टीम ने 24 बंधुआ मजदूरों को मुक्त करा लिया है. जानकारी के अनुसार चतरा से पिकअप वैन (जेएच 13 ई 7380) में लादकर पैसे का लालच देकर इनलोगों को लाया जा रहा था. इन लोगों को चतरा जिले के लावालौग थाना क्षेत्र के लमटा निवासी दयाराम साहू उर्फ जयराम कुमार, लोटवा कुंदा निवासी अजय कुमार यादव और लटमा निवासी हरेद्र कुमार झांसा देकर ले जा रहे थे. घरो में काम करने और खेती में काम करने के लिये इनलोगों का सौदा यूपी के बिजनौर निवासी सतेद्र त्यागी, शोभित त्यागी, कपिल त्यागी और अतुल त्यागी से आरोपी ने तय किया था. पुलिस सभी मज़दूरों को ठेकेदारों के चंगुल से आज़ाद करा दिया है. बच्चों को बाल कल्याण समिति के समक्ष प्रस्तुत किया गया.

इसे भी पढ़ें: भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा कल आएंगे पटना, करेंगे रोड शो, 31 को पहुंचेंगे केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह

सात लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज

पुलिस को मुखबिर की सूचना मिली पिकअप में खरीद फरोख्त के इरादे से बच्चे सहित 24 मज़दूरों को लाया जा रहा है. सूचना पर एएचटीयू, पुलिस और बाल कल्याण विभाग के अफसरों घेराबंदी कर बिजनौर-नूरपुर रोड से पिकअप को पकड़ लिया. जिसमें 12 बाल मज़दूर और 12 बालिग मिले. बाल मज़दूरों की उम्र महज़ 10 से 15 साल के ही बीच है. पुलिस सात आरोपी के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की है, जिसमें चतरा जिले के लावालौग थाना क्षेत्र के लमटा निवासी दयाराम साहू उर्फ जयराम कुमार, लोटवा कुंदा निवासी अजय कुमार यादव और लटमा निवासी हरेद्र कुमार यूपी के बिजनौर निवासी सतेद्र त्यागी, शोभित त्यागी, कपिल त्यागी और अतुल त्यागी का नाम शामिल हैं.

इसे भी पढ़ें: jamshedpur : दंग रह जाएंगे जेआरडी टाटा के आसमान में उड़ने की इस दीवानगी को जानकर 

Related Articles

Back to top button