न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

फारूक की नजरबंदी पर संसद में रार, अमित शाह बोले- न नजरबंद न हिरासत में, इधर अब्दुल्ला ने कहा, गृह मंत्रालय ने झूठ बोला कि मैं नजरबंद नहीं हूं…

2,682

New Delhi: लोकसभा में जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन बिल पर बहस के दौरान फारूक अब्दुल्ला की गैरहाजिरी एक बड़ा सवाल बन गयी. संसद में गृहमंत्री अमित शाह ने चार बार बयान दिया कि फारूक अब्दुल्ला न तो हिरासत में हैं और न ही वह नजरबंद हैं. हालांकि, फारूक अब्दुल्ला ने खुद को नजरबंद बताते हुए गृह मंत्रालय के दावे को झूठा बताया है. कई विपक्षी नेताओं ने भी फारूक अब्दुल्ला को लेकर सवाल किया था.

इसे भी पढ़ें – तकनीकी शिक्षा विभाग मानता है नहीं हो सकता है अवर सचिव अजय सिंह के बिना उनका काम, इसलिए 12 सालों से जमे हैं

लोकसभा में जम्मू-कश्मीर पुर्नगठन बिल पर बहस के दौरान एनसीपी सांसद सुप्रिया सुले ने कहा कि आज की बहस में फारूक अब्दुल्ला की कमी महसूस हो रही है. इसके बाद गृहमंत्री अमित शाह ने खड़े होकर स्पष्ट किया कि फारूक अब्दुल्ला को न तो गिरफ्तार किया गया है और ना ही वे नजरबंद हैं. वह अपनी मर्जी से घर पर हैं. इसके बाद सुले ने कहा कि वह बीमार हैं, इसलिए नहीं आये हैं. इस पर शाह ने कहा, इसके लिए मैं कुछ नहीं कर सकता, मैं डॉक्टर नहीं हूं. टीवी चैनलों पर फारूक अब्दुल्ला द्वारा खुद के नजरबंद बताये जाने के बाद कांग्रेस के वरिष्ठ सांसद शशि थरूर ने भी इस मुद्दे को उठाया.

इसे भी पढ़ें – अनुच्छेद 370 हटाने को लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर, सरकार के फैसले को चुनौती

Gupta Jewellers 20-02 to 25-02
Related Posts

 दिल्ली में #PM मोदी से मिले महाराष्ट्र के CM उद्धव ठाकरे, कहा, अच्छी मुलाकात रही, CAA से डरने की जरूरत नहीं   

पीएम मोदी से मुलाकात के बाद उद्धव ठाकरे ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि पीएम मोदी से महाराष्ट्र के मुद्दों के अलावा CAA, NPR और NRC को लेकर भी चर्चा हुई.

गृह मंत्रालय ने झूठ कहा: फारूक

फारूक अब्दुल्ला ने न्यूज एजेंसी से बातचीत में कहा कि गृह मंत्रालय ने संसद में झूठ बोला कि मैं नजरबंद नहीं हूं और अपनी मर्जी से घर में हूं. आपको लगता है मैं अपने घर में रहूंगा, जब मेरे राज्य को जलाया जा रहा है, मेरे लोगों को जेल में बंद किया जा रहा है. यह पूछे जाने पर कि वह आगे क्या करेंगे, अब्दुल्ला ने कहा कि हम लड़ेंगे, कोर्ट जायेंगे. हम बंदूक चलानेवाले नहीं हैं, हम पत्थर चलानेवाले नहीं हैं. हम हर मुद्दे को बातचीत से सुलझाने वाले लोग हैं.

‘कनपट्टी पर गन रख कर नहीं ला सकते बाहर’

गृहमंत्री ने कहा, ‘मैं तीन बार साफ कर चुका हूं, फिर से एक बार फिर क्लियर करना चाहता हूं. फारूक अब्दुल्ला न तो हिरासत में हैं न नजरबंद हैं. अपने घर पर हैं. तबीयत भी अच्छी है. मौज मस्ती में हैं, आप मालूम कर लीजिए. उनको नहीं आना है तो हम कनपटी पर गन रख कर बाहर नहीं ला सकते हैं.

इसे भी पढ़ें – CBI-ACB ने एक मामले में जिसे बनाया था आरोपी, उन्हीं के जिम्मे योजना और बजट का काम

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like