BiharNEWS

उपेंद्र कुशवाहा का दावा, बिहार में पूर्ण शराबबंदी नहीं लेकिन महिलाओं की स्थिति पहले से बेहतर

Begusrai: जदयू के संसदीय बोर्ड के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा नवगछिया दौरे पर हैं. यहां पर उन्होंने पार्टी नेताओं से मुलाकात की. बिहार में शराबबंदी को लेकर सवाल किए जाने पर कुशवाहा ने कहा है कि उन्हें इस बात को कबूलने में कोई गुरेज नहीं कि बिहार में अभी 100 फ़ीसदी शराबबंदी नहीं हो पाई है. लेकिन यह भी सच है कि नीतीश कुमार ने शराबबंदी को लेकर जो फैसला किया है, वह अब जमीन पर असर दिखा रहा है. महिलाओं की स्थिति पहले से बेहतर हुई है. सड़क पर शराब पीकर बवाल करने वाले लोग नजर नहीं आते. धीरे-धीरे लोगों की मदद से ही शराब बंदी कानून को सफल बनाया जा सकता है.

 

Sanjeevani

इससे पहले : भारत के हिंदू बहुल होने के कारण अल्पसंख्यकों को माना जाए कमजोर, SC में आयोग ने कहा

 

MDLM

इससे पहले उपेंद्र कुशवाहा ने नीतीश कुमार को लेकर बड़ा दावा किया था. उन्होंने कहा था कि “दुनिया की कोई भी ताकत नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री की कुर्सी से नहीं हटा सकती”.

दिल्ली से पटना पहुंचे उपेंद्र कुशवाहा रविवार को बेगूसराय के दौरे पर थे. बेगूसराय में उन्होंने इस बात का ऐलान किया था कि नीतीश कुमार पांच साल तक बिहार के मुख्यमंत्री बने रहेंगे. और उन्हें कोई भी नहीं हटा सकता. कुशवाहा ने कहा कि कोई अगर इस मुगालते में रहता है कि नीतीश कुमार की कुर्सी चली जाएगी तो वह ख्याली पुलाव पका रहे हैं. अब कुशवाहा के बयान का दोहरे मायने निकाले जा रहे हैं. पहला निशाना विपक्षी दलों पर है तो वहीं दूसरा सहयोगी दलों की तरफ भी. सहयोगी दल के नेता लगातार नीतीश कुमार को मजबूरी का मुख्यमंत्री बता रहे हैं.

 

नीतीश सरकार में शामिल बीजेपी कोटे से पंचायती राज मंत्री सम्राट चौधरी हर दिन कहीं न कहीं यह बयान देते नजर आ रहे हैं कि बीजेपी को अपना मुख्यमंत्री चाहिए ऐसे में कुशवाहा ने एक तीर से दो निशाना साधा है.

 

Related Articles

Back to top button