Crime NewsGiridihJharkhand

Update : दो भाइयों की हत्या का आरोप लगा रोड जाम कर किये ग्रामीणों पर पुलिस ने बरसायी लाठी

  • तीन दिनों से लापता थे दोनों भाई
  • पुलिस की लापरवाही की वजह से दोनों की हत्या का आरोप लगा रोड जाम कर रहे थे ग्रामीण

Giridih : सगे भाइयों के शव गांव के 12 फीट गहरे निर्माणाधीन कुएं से मिलने के बाद गुरुवार को ग्रामीणों ने पहले सरिया-धनवार रोड जाम कर दिया. रोड जाम फिलहाल देर शाम तक जारी था. ग्रामीण पुलिस की लापरवाही की वजह से बच्चों की हत्या होने का आरोप लगाकर रोड जाम किये हुए थे. इस पर पुलिस जवानों ने ग्रामीणों पर लाठी चार्ज कर दिया.

पुलिस द्वारा लाठी चलाते देख ग्रामीणों को मजबूरन वहां से हटना पड़ा. हालांकि, पुलिस के लाठी चलाने से कोई जख्मी हुआ या नहीं, यह फिलहाल स्पष्ट नहीं हो पाया है. बताया जा रहा है कि पुलिस जवानों ने धनवार एसडीएम धीरेंद्र सिंह और डीएसपी संतोष मिश्रा की मौजदूगी में लाठी चार्ज किया. ग्रामीणों का कहना है कि उन्हें यह अंदेशा नहीं था कि दो छोटे बच्चों की मौत के मामले में इंसाफ दिलाने की मांग करने पर लेकर लड़ाई लड़ने के खिलाफ उन्हें पुलिस की लाठी भी खानी पड़ सकती है.

इसे भी पढ़ें:दोबारा कोरोना पॉजिटिव हुए आजसू सुप्रीमो सुदेश महतो

मामूली बल प्रयोग करना पड़ा : एसडीएम

खबर लिखे जाने तक मामले को लेकर घटनास्थल पर माहौल तनावपूर्ण बना हुआ था. जबकि, पदाधिकारियों के साथ पुलिस जवान घटनास्थल पर तैनात थे. इधर, देर शाम दोनों भाइयों के शव को कुएं से निकालकर पोस्टमॉर्टम के लिए सदर अस्पताल भेजा गया. लाठी चार्ज का कारण जानने पर धनवार एसडीएम धीरेंद्र सिंह ने कहा कि कुछ ग्रामीण उत्तेजित होकर जाम करने का प्रयास कर रहे थे. इसी कारण पुलिस को मामूली बलप्रयोग करना पड़ा.

इसे भी पढ़ें: दोबारा सीएनआइ में शामिल होंगे छोटानागपुर डायसिस के बिशप

कुएं तक कैसे पहुंचे दोनों भाई, जवाब ढूंढ रही पुलिस

जिस कुएं से तेजलाल साव के दोनों बेटों पवन कुमार और पीयूष कुमार के शव मिले, वह कुआं केंदुआडीह गांव निवासी मुस्लिम अंसारी का बताया जा रहा है. यह कुआं फिलहाल निर्माणाधीन है. जानकारी के अनुसार, दो दिनों से लापता दोनों बच्चों के शव गुरुवार की अहले सुबह इस कुएं में मिले. कुएं तक दोनों भाई कैसे पहुंचे, यह कोई हादसा है या दोनों बच्चों की हत्या कर शव कुएं में फेंका गया, इसे लेकर पुलिस अभी कुछ भी स्पष्ट नहीं कर सकी है. पुलिस इसकी पड़ताल में जुटी हुई है.

बता दें कि बच्चों के शव मिलने के बाद पुलिस ने खोजी कुत्ते का भी सहारा लिया. सारा दिन खोजी कुत्ते भी कुएं के पास से करीब एक किमी दूर तूंगरडीह गांव पहुंचे, लेकिन कुछ हासिल नहीं हुआ. इसी बीच ग्रामीणों द्वारा दोबारा रोड जाम किये जाने से अधिकारियों और पुलिस जवानों की नाराजगी बढ़ी. रोड जाम को हटाने के लिए पुलिस ने ग्रामीणों पर बल प्रयोग किया.

इससे पहले ग्रामीणों का आक्रोश देखकर जिले के आधा दर्जन थानों की पुलिस को घटनास्थल पर बुलाया गया था. जिले के देवरी, धनवार, परसन ओपी, तिसरी, घोड़थंबा और जमुआ पुलिस के जवानों को तैनात किया गया. इसके बाद भी माहौल में तनाव बना रहा.

इसे भी पढ़ें: पलामू: एक कैदी के कारण पांच माह से परेशान है मेदिनीनगर सेंट्रल जेल प्रबंधन

Related Articles

Back to top button