न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

यूपी :  मुस्लिम परिवार ने नवजात बच्‍चे का नाम रखा नरेंद्र दामोदर दास मोदी,  मां की जिद पूरी की

नवजात बच्‍चे की मां की जिद थी कि बच्‍चे का नाम तो नरेंद्र दामोदर दास मोदी ही रखा जाये. मां की जिद पूरी हुई और बच्‍चे का यह नाम सभी ने मंजूर कर लिया.

138

NewDelhi : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुआई में भाजपा को मिली बड़ी जीत के बाद यूपी के गोंडा जिले में एक  मुस्लिम परिवार के घर में नवजात बच्‍चे की मां की जिद थी कि बच्‍चे का नाम तो नरेंद्र दामोदर दास मोदी ही रखा जाये. मां की जिद पूरी हुई और बच्‍चे का यह नाम सभी ने मंजूर कर लिया. घटना गोंडा जिले के वजीरगंज कस्‍बे के परसापुर महरौर की है, जहां मैनाज नाम की मुस्लिम महिला ने 23 मई को एक बच्‍चे को जन्‍म दिया.

खबरों के अनुसार बच्‍चे के पैदा होने के बाद जब उसके नाम पर विचार किया जाने लगा तो मैनाज ने इच्‍छा जाहिर की कि बच्‍चे का नाम देश के प्रधानमंत्री मोदी के नाम पर रखा जाये. शुरू में तो लोगों को यह हंसी-मजाक लगा लेकिन जब बच्‍चे की मां अपनी बात पर अड़ी रही तो लोग सोच में पड़ गये. बच्‍चे के पिता मुश्‍ताक अहमद खाड़ी देशों में काम करते हैं. वह भी भारत में नहीं थे. तब बच्‍चे के दादा मोहम्‍मद इदरीस आगे आये और उन्‍होंने अपनी पुत्रवधू की इच्‍छा पूरी करते हुए बच्‍चे का नाम नरेंद्र मोदी रखने पर सहमति जताई.

इसे भी पढ़ें- भाजपा की बंपर जीत पर ममता ने ट्विटर पर एक कविता पोस्ट की, आई डोन्ट एग्री…

तीन तलाक पर कानून बनाकर मुस्लिम महिलाओं को जीने का हक दिया

इसके बाद बच्‍चे के पिता से फोन पर बात कर उनकी सहमति ली गयी. डीएम कार्यालय में एक हलफनामा दर्ज कर कहा गया कि परिवार रजिस्‍टर में बच्‍चे का नाम नरेंद्र दामोदर दास मोदी रखा जाये. मैनाज बेगम कहती हैं कि वह पीएम मोदी के बारे में देखती-सुनती आ रही हैं. वह कहती हैं, ‘मोदीजी अच्छा काम कर रहे हैं. वह दोबारा आये तो उनके लिए बच्चे का नामकरण एक तोहफा भर है. तीन तलाक पर कानून बनाकर मोदीजी ने मुस्लिम महिलाओं को जीने का हक दिया है.

डीएम के नाम एक शपथ पत्र

Related Posts

अमित शाह ने कहा, पटेल ने 630 रियासतों को भारत में मिलाया, कश्मीर का संपूर्ण विलय पीएम मोदी ने किया

अनुच्छेद-370 हटने के साथ ही जम्मू-कश्मीर का संपूर्ण विलय भारत के साथ हुआ है.

SMILE

मैनाज बेगम ने डीएम के नाम एक शपथ पत्र बनवाया है.  इसे ससुर मोहम्मद इदरीस ने डीएम के कैंप कार्यालय में शुक्रवार को रिसीव करा दिया. एडीओ पंचायत वजीरगंज घनश्याम पांडेय को भी शपथ पत्र दिया गया है. पांडेय ने बताया कि शपथ पत्र मिला है. इसे बीडीओ परसापुर महरौर को भेजा गया है. परिवार रजिस्टर में नवजात बच्चे का नाम नरेंद्र दामोदर दास मोदी दर्ज किया जायेगा.

पारिवारिक फैसला है, कोई दखल नहीं दे सकता

महिला के ससुर इदरीस ने कहा कि पीएम मोदी के प्रति खुद उनकी भी व्यक्तिगत आस्था है. जब उनसे पूछा गया कि इस फैसले पर समाज क्या कहेगा तो उन्होंने जवाब दिया कि यह पारिवारिक फैसला है, कोई दखल नहीं दे सकता.  हलफनामे में दिलचस्‍प तौर पर यह नाम रखने की वजह बताई गयी है.

इसमें कहा गया है, 23 मई 2019 को देश के सबसे बड़े सदन में नरेंद्र दामोदर दास मोदी की देशभक्ति व कुशल राजनयिक क्षमता को जनता ने स्‍वीकृति प्रदान की है.  नरेंद्र दामोदर दास मोदी के नाम व कार्य से प्रभावित होकर अपने नये जन्‍मे शिशु का नाम नरेंद्र दामोदर दास मोदी रखता हूं तथा उनके विचारों पर चलने का संकल्‍प लेता हूं.

इसे भी पढ़ें- रविवार को गुजरात जायेंगे पीएम मोदी, मां हीराबेन से मिलेंगे, काशी भी जायेंगे

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: