न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

यूपी : मुन्ना बजरंगी हत्याकांड से सहमे जेल में बंद अपराधी, मुख्तार अंसारी तीन दिनों से बैरक से बाहर नहीं निकला  

715

Lucknow: यूपी के बागपत जेल में बंद अपराधी मुन्ना बजरंगी की हत्या कर दिये जाने के बाद जेलों में बंद अपराधियों की नींद उड़ गयी है. मौत के डर से उनके पसीने छूट रहे है. खबरों के अनुसार कई ने खाना-पीना और सोना तक छोड़ दिया है. उन्हें अपनी जान की चिंता सता रही है. इस हत्याकांड के बाद ज्यादातर अपराधियों ने पुलिस अधिकारियों को लिखित रूप से दिया है कि वे कोर्ट में पेशी पर नहीं जाना चाहते. वे चाहते हैं कि उनकी सुनवाई वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध़्यम से कराई जाये. बांदा जेल में विधायक मुख्तार अंसारी बंद है. जानकारी मिली है कि मुख्तार अंसारी मौत के भय से तीन दिनों से अपनी बैरक से बाहर नहीं निकला है. जेल सूत्रों के अनुसार मुख्तार अंसारी की सुरक्षा कड़ी कर दी गयी है.

इसे भी पढ़ें : मोदी सरकार को सता रही शत्रुघ्न सिन्हा की चिंता, अब मिलेगी वाई प्लस श्रेणी की सुरक्षा

सीसीटीवी कैमरों से 24 घंटे कैदियों पर नजर रखी जा रही है

सीसीटीवी कैमरों से 24 घंटे कैदियों पर नजर रखी जा रही है. अधिकारी रात-रातभर जाग रहे हैं. मुख्तार अंसारी को चुनौती देने वाले एमएलसी बृजेश सिंह वाराणसी जेल में बंद है. अतीक अहमद देवरिया जेल में और माफिया बबलू श्रीवास्तव बरेली जेल में बंद हैं. पश्चिम यूपी का गैंगस्टर नरेश भाटी गाजियाबाद जेल में बंद है. बागपत जेल में हुए मुन्ना बजरंगी हत्याकांड के बाद छोटा राजन के लिए काम करने वाले जफर खान के छोटे भाई मुबारक खान को सुलतानपुर से लखनऊ जेल में शिफ्ट किया गया है.

Related Posts

UP : मुख्यमंत्री सहित मंत्रियों के आयकर का भुगतान अब जनता की जेब से नहीं, 40 साल पुराना कानून बदलेगा

उत्तर प्रदेश मंत्री वेतन, भत्ते एवं विविध कानून 1981 विश्वनाथ प्रताप सिंह  के मुख्यमंत्रित्व काल में बना था. इस कानून के कारण अब तक 19 मुख्यमंत्रियों और लगभग 1,000 मंत्रियों ने लाभ लिया है,

अपराधी पेशी पर जाने से कर रहे इनकार

मेरठ के एडीजी प्रशांत कुमार के अनुसार कुछ अपराधियों की तरफ से पेशी पर जाने से इनकार की जानकारी मिली है. पुलिस की तरफ से उनको जेल से अदालत लाने- ले जाने के लिए सुरक्षा के और पुख्ता इंतजाम करने के निर्देश सभी जिलों को  दिये गये हैं. बता दें कि यूपी के अलग अलग जेलों में पश्चिमी यूपी के सुंदर भाटी, बदम सिंह बद्दो, अनिल दुजाना, योगेश भदौड़ा, रणनदीप भाटी, सौरभ बहावड़ी, संजीव जीवा, मोनू जाट, उधम सिंह, शारिक, सतीश गिरी, सलमान, सुशील मूंछ आदि बड़े अपराधी बंद हैं.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like

you're currently offline

%d bloggers like this: