न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

यूपी के मंत्री ने झारखंड को दिया महाकुंभ में शामिल होने का निमंत्रण

34
  • 15 जनवरी से शुरू हो रहा है महाकुंभ, देश-विदेश से जुटेंगे लगभग 12 करोड़ श्रद्धालु
  • 454 वर्ष बाद इस बार होंगे अक्षय वट और सरस्वती कूप के दर्शन

Ranchi : 15 जनवरी से प्रयागराज में महाकुंभ शुरू हो रहा है. इस महाकुंभ में शामिल होने के लिए उत्तरप्रदेश के कृषि मंत्री सूर्यप्रताप शाही ने झारखंड को निमंत्रित किया है. यह महाकुंभ चार मार्च तक चलेगा. सूर्यप्रताप शाही ने गुरुवार को राजधानी रांची में मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि देश के अंदर चार स्थानों पर इस पवित्र कुंभ का आयोजन होता है, जिसमें प्रयागराज में लगनेवाले कुंभ की देश और दुनिया के लिए एक अलग पहचान है. सूर्यप्रताप ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रयास से यूनेस्को द्वारा कुंभ को देखते हुए इसे मानवता की सांस्कृतिक विरासत की सूची में सम्मिलित किया गया है. उन्होंने कहा कि कुंभ के सफल आयोजन को लेकर बीते एक माह से इसकी तैयारी चल रहा है. कुंभ मेला का भव्य रूप से आयोजन करने के लिए यूपी सरकार ने 4300 करोड़ रुपये के बजट का प्रावधान किया है. वहीं, पहले जहां 1400 हेक्टेयर में इस मेले का आयोजन होता था, इस बार इसे 3100 हेक्टेयर में आयोजित किया जायेगा.

अक्षय वट और सरस्वती कूप के भी होंगे दर्शन

उत्तरप्रदेश के कृषि मंत्री सूर्यप्रताप शाही ने बताया कि 454 वर्ष बाद इस बार श्रद्धालु अक्षय वट और सरस्वती कूप के दर्शन कर सकेंगे. भारत सरकार के प्रयास एवं रक्षा मंत्रालय के सहयोग से श्रद्धालुओं के लिए दर्शन सुलभ कराये जा सके हैं. उन्होंने बताया कि कुंभ का आयोजन त्रिवेणी संगम पर होता है, लेकिन इसका संबंध संर्पूण प्रयागराज क्षेत्र से है. कुंभ में पर्यटकों एवं श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए सभी इंतजाम किये गये हैं. देश और विदेश से लगभग 12 करोड़ श्रद्धालुओं के आने की संभावना जताते हुए मंत्री ने कहा कि श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए जल, थल और नभ से आने की पहली बार व्यवस्था की गयी है. इसमें 192 देशों के श्रद्धालु व पर्यटकों के आने की सूचना प्राप्त हुई है.

छह शाही स्नान होते हैं महत्वपूर्ण

सूर्यप्रताप शाही ने बताया कि महाकुंभ में छह शाही स्नान बहुत ही महत्वपूर्ण होते हैं. इस बार ये शाही स्नान 15 जनवरी, 31 जनवरी, 4 फरवरी, 10 फरवरी, 19 फरवरी और 4 मार्च को होंगे.

सुरक्षा के भी होंगे व्यापक इंतजाम

सूर्यप्रताप शाही ने बताया कि महाकुंभ में होनेवाली भीड़ को देखते हुए सुरक्षा के भी व्यापक इंतजात किये गये हैं. 40 हजार सुरक्षाबलों को श्रद्धालुओं की सुरक्षा के लिए लगाया गया है. इसके अलावा पूरे कुंभ को इंटीग्रेटेड कंट्रोल एवं कमांड सेंटर सीसीटीवी कैमरों की निगरानी में रखा गया है. मेले में 1400 से अधिक सीसीटीवी कैमरे लगवाये जा रहे हैं. इसी प्रकार स्वच्छ कुंभ, सांस्कृतिक कुंभ, सुरक्षित कुंभ एवं डिजिटल कुंभ बनाने का प्रयास किया गया है.

इसे भी पढ़ें- कैग की रिपोर्ट से साबित होता है कंबल घोटाला, पर सरकार जांच के नाम पर कर रही लीपापोती, साल बीत गया,…

इसे भी पढ़ें- रघुवर सरकार कल पूरा करेगी चार वर्षों का सफर, पूरे शहर में लगे बैनर-पोस्टर

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: