न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

यूपी : लखनऊ से व्यवसायी का अपहरण, देवरिया जेल लाया गया, बाहुबली नेता ने 45 करोड़  की जमीन  जबरन लिखवा ली

यूपी की राजधानी लखनऊ से व्यवसायी मोहित जायसवाल का अपहरण कर उसे 316 किलोमीटर दूर देवरिया जेल ले जाया गया. वहां अपराधी अतीक अहमद ने अपने गुर्गों द्वारा उसकी पिटाई कराई और फिर 45 करोड़ कीमत की ज़मीन के कागजात पर जबरन साइन करावा लिये.

38

NewDelhi : यूपी की राजधानी लखनऊ से व्यवसायी मोहित जायसवाल का अपहरण कर उसे 316 किलोमीटर दूर देवरिया जेल ले जाया गया. वहां अपराधी अतीक अहमद ने अपने गुर्गों द्वारा उसकी पिटाई कराई और फिर 45 करोड़ कीमत की ज़मीन के कागजात पर जबरन साइन करावा लिये. यह हाल उत्तर प्रदेश में सीएम योगी आदित्यनाथ के राज में कानून व्यवस्था का है; जेल बंद कुख्यात बाहुबली नेता अतीक अहमद के गुर्गों ने कानून व्यवस्था के दावों की धज्जियां उड़ा कर रख दीं. बता दें कि अतीक अहमद के खिलाफ 70 से ज्यादा मुकदमे दर्ज हैं. जिसमें हत्या, किडनैपिंग और उगाही जैसे मामले हैं. अतीक अहमद को पिछले साल ही इलाहाबाद से देवरिया जेल शिफ्ट किया गया था. अतीक के खिलाफ बीएसपी विधायक राजू पाल की हत्या का भी मामला दर्ज है. नियम-कानून की धज्जियां उड़ने के बाद अ यूपी सरकार की ओर से जेल प्रशासन से पूरे मामले की रिपोर्ट मांगी गयी है.

जानकारी के अनुसार व्यवसायी मोहित जायसवाल द्वारा रंगदारी देने से मना कर देने पर अतीक अहमद ने अपने गुर्गों द्वारा उसे अगवा करा जेल में मंगवा लिया. खबर है कि वहां बेटे और अपने कुछ साथियों के साथ मोहित जायसवाल के मारपीट की और 45 करोड़ रुपये की कीमत वाली ज़मीन के कागजात पर जबरन साइन करावा लिये.

मोहित जयसवाल के अनुसार अपहरण 26 दिसंबर को हुआ था

इस वारदात के बाद व्यवसायी मोहित जायसवाल जब लखनऊ पहुंचा तो पुलिस में इस घटना की शिकायत की. मामला उजागर होने पर पूर्व बाहुबली सांसद अतीक अहमद के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर की गयी. उसके बाद ज़िले के बड़े अधिकारियों ने जेल में छापा मार कर अतीक अहमद के दो गुर्गों को गिरफ़्तार कर लिया.  मोहित जयसवाल के अनुसार उनका अपहरण 26 दिसंबर को हुआ था और उसे उसकी एसयूवी से देवरिया ले जाया गया. जहां उसकी मुलाकात अतीक अहमद से कराई गयी. एफआईआर के अनुसार अतीक अहमद ने उसके मारपीट की और जमीन के कागजात पर जबरन दस्तखत करा लिये.. पुलिस को मिली शिकायत के अनुसार यह सब कुछ जेल परिसर के अंदर हुआ और प्रशासन की जानकारी में था. उधर जेल प्रशासन ने भी माना है कि मोहित जयसवाल नाम का शख्स अतीक अहमद से मिलने आया था. लेकिन इस बात की जानकारी नहीं है कि उसे अपहरण करके लाया गया था.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: