Lead NewsNational

UP : बीजेपी छोड़ने के ऐलान के बाद स्वामी प्रसाद मौर्य के खिलाफ गिरफ्तारी का वारंट जारी, धार्मिक भावनाएं भड़काने  का आरोप 

Lucknow : उत्तर प्रदेश के पूर्व कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य के खिलाफ एमपी-एमएलए कोर्ट ने गिरफ्तारी का वारंट जारी किया है. सुल्तानपुर के कोर्ट ने उनको आगामी 24 जनवरी तक पेश होने का आदेश दिया है. साल 2014 में देवी-देवताओं पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने के मामले में बुधवार को पूर्व मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य अदालत में हाजिर नहीं हुए तो अपर मुख्य दंडाधिकारी एमपी-एमएलए ने आरोपित पूर्व श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य के खिलाफ पूर्ववत जारी गिरफ्तारी वारंट को जारी करने का आदेश दिया है. अब इस मामले में 24 जनवरी को सुनवाई की तारीख तय हुई है.

साफ कर दें कि स्वामी प्रसाद मौर्य के खिलाफ यह नया गिरफ्तारी वारंट नहीं है. वारंट पहले से जारी था, लेकिन इन्होंने हाईकोर्ट से 2016 से इस पर स्टे ले रखा था.

इसे भी पढ़ें:यूपी विधानसभा चुनाव में झारखंड के भाजपाई और कांग्रेसी भी संभालेंगे कमान

Catalyst IAS
ram janam hospital

इसी 6 जनवरी को MP-MLA कोर्ट ने मौर्य को 12 जनवरी को हाजिर होने को कहा था, जब वह हाजिर नहीं हुए तो वारंट पूर्ववत जारी कर दिया गया.

The Royal’s
Pushpanjali
Pitambara
Sanjeevani

बता दें कि स्वामी प्रसाद मौर्य इन दिनों यूपी की राजनीति के सबसे ज्यादा चर्चित चेहरों में शुमार हैं. मालूम हो कि मौर्य ने योगी सरकार के कैबिनेट मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है और पिछड़ों दलितों की उपेक्षा का आरोप लगाते हुए बीजेपी छोड़ने का ऐलान कर दिया है. इशारा मिला है कि मौर्य समाजवादी पार्टी जॉइन कर सकते हैं.

इसे भी पढ़ें:सीएम के समर्थन में उतरे चिराग, कहा- बीजेपी का साथ छोड़कर ये फैसला

Related Articles

Back to top button