न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#UnnaoHorror : पीड़िता के परिजनों से मिलीं  प्रियंका, कहा, दोषियों का कनेक्शन भाजपा से…

राज्य में अपराधियों के बीच कोई डर नहीं है. मुख्यमंत्री कह रहे हैं कि राज्य में अपराधियों के लिए कोई जगह नहीं है, लेकिन उन्होंने राज्य को क्या बना दिया. मुझे लगता है कि यहां महिलाओं के लिए कोई जगह नहीं है.

28

NewDelhi : उन्नाव जिले में आग के हवाले की गयी बलात्कार पीड़िता की मौत को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि पीड़िता के परिवार को पिछले एक साल से लगातार परेशान किया जा रहा था. मुझे सुनने को मिला है कि दोषियों के भाजपा से कनेक्शन हैं. इसलिए वे अभी तक बचे हुए थे.

राज्य में अपराधियों के बीच कोई डर नहीं है. मुख्यमंत्री कह रहे हैं कि राज्य में अपराधियों के लिए कोई जगह नहीं है, लेकिन उन्होंने राज्य को क्या बना दिया. मुझे लगता है कि यहां महिलाओं के लिए कोई जगह नहीं है.

Sport House

इसे भी पढ़ें :  #UnnaoHorror: सड़क के रास्ते लाया जा रहा पीड़िता का शव, मामले पर राजनीति तेज-धरने पर अखिलेश, परिजनों से मिलने पहुंचीं प्रियंका

हम उसे न्याय नहीं दे पाये

बता दें कि प्रियंका गांधी ने बलात्कार पीड़िता की मौत के बाद उसके परिजनों से मुलाकात की.  परिवार से मुलाकात के बाद प्रियंका गांधी ने यह सब बातें कही.  प्रियंका उत्तर प्रदेश की अपनी दो दिवसीय यात्रा पर शुक्रवार को लखनऊ पहुंची थीं. इससे पहले, प्रियंका ने ट्वीट किया मैं ईश्वर से प्रार्थना करती हूं कि वह उन्नाव पीड़िता के परिवार को दुख की इस घड़ी में हिम्मत दे.  कहा कि यह हम सबकी नाकामयाबी है कि हम उसे न्याय नहीं दे पाये. सामाजिक तौर पर हम सब दोषी हैं लेकिन यह उत्तर प्रदेश में खोखली हो चुकी कानून व्यवस्था को भी दिखाता है.

इसे भी पढ़ें : #unnaokibeti: रेप पीड़िता के लिए इंसाफ मांग रही महिला ने अपनी 6 साल की बेटी पर डाला पेट्रोल

Related Posts

शेख हसीना ने कहा,  #CAA_NRC भारत का आंतरिक मामला, पर जरूरत समझ में नहीं आयी

बांग्लादेश की पीएम ने इस बात से भी साफ इनकार किया कि उनके देश से धार्मिक उत्पीड़न के चलते अल्पसंख्यक समुदाय के लोग भारत पलायन कर रहे हैं.

Vision House 17/01/2020

            आग के हवाले करने से पहले उसके साथ मारपीट की गयी

साथ ही प्रियंका ने ट्वीट किया, उन्नाव की पिछली घटना को ध्यान में रखते हुए सरकार ने पीड़िता को तत्काल सुरक्षा क्यों नहीं दी? जिस अधिकारी ने प्राथमिकी दर्ज करने से मना किया, उस पर क्या कार्रवाई हुई? उत्तर प्रदेश में रोज-रोज महिलाओं पर जो अत्याचार हो रहे हैं, उसे रोकने के लिए सरकार क्या कर रही है?’  जान लें कि पीड़िता को गुरुवार को उसे बेहतर इलाज के लिए लखनऊ से एयरलिफ्ट कर दिल्ली के सफ़दरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

सफ़दरजंग अस्पताल में पीड़िता के लिए अलग आईसीयू बनाया गया था. जहां डॉक्टरों की एक टीम लगातार निगरानी कर रही थी. लेकिन आखिरकार उसे बचाया नहीं जा सका. उधर, रेप पीड़िता के रिश्तेदारों ने आरोप लगाया है कि लड़की के जलाये जाने के बाद से उन्हें लगातार धमकी दी जा रही है.

SP Deoghar

पीड़िता ने पुलिस को बताया कि उसे आग के हवाले करने से पहले उसके साथ मारपीट की गयी और चाकू से गोदा गया. हमला करने वाले वही लोग थे, जिन पर उससे रेप करने का आरोप था. वह अपने रेप मामले में कोर्ट की सुनवाई के लिए रायबरेली जा रही थी, तभी पांच लोगों ने उसे घेरकर आग के हवाले कर दिया. जब पीड़िता को दिल्ली शिफ्ट किया जा रहा था, तो वह पूरे रास्ते होश में थी, और उसने पांचों आरोपियों की पहचान करते हुए पुलिस को बयान दिया.

इसे भी पढ़ें : महिलाओं के खिलाफ बढ़ते अपराध पर बोले रविशंकर प्रसाद ने कहा- मामलों के तीव्र निपटारे की निगरानी जरूरी

Mayfair 2-1-2020

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like