JamshedpurJharkhand

उलियांन में उमड़ी भीड़, गुरुजी की राह तकते रह गए कार्यकर्ता

Jamshedpur : झारखंड आंदोलनकारी शहीद निर्मल महतो के शहादत दिवस पर इस बार भी कार्यकर्ताओं का सैलाब उमड़ा लेकिन देर शाम तक झामुमो सुप्रीमो शिबू सोरेन के नहींं पहुंंचने से कार्यकर्ता मायूस दिखे. कार्यकारी अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन भी करुणानिधि के अंतिम संस्कार में शामिल होने की वजह से देर शाम तक जमशेदपुर नहींं पहुंच सके. वैसे हर वर्ष की तरह इसबार भी पूरी तैयारी की गई थी और बड़ी तायदाद में झारखंड के अलावा ओडिशा और पश्चिम बंगाल से भी कार्यकर्ता यहां पहुंचे थे. शाम की सभा से पहले कार्यकर्ताओं ने चमरिया गेस्ट हाउस स्थित शहादत स्थल पर भी निर्मल महतो को श्रद्धांजलि दी. जुलूस और शोभायात्रा के साथ यहां कार्यकर्ता पहुंचे.

इसे भी पढ़ें – झारखंड के विधायकों ने कहा – दिल्ली की तरह विधायक फंड हो 10 करोड़

ये लोग थे मौजूद

झामुमो के अलावा आजसू और अन्य राजनीतिक दलों और संगठनों के लोग मौजूद थे. उलियांन की सभा मे बतौर मुख्य अतिथि झारखंड मुक्ति मोर्चा के केंद्रीय उपाध्यक्ष पूर्व मंत्री सह विधायक चंपई सोरेन, विशिष्ट अतिथि केंद्रीय महासचिव मोहन कर्मकार, झामुमो केंद्रीय उपाध्यक्ष श्रीमती सविता महतो, पूर्व सांसद सुमन महतो, विधायक दशरथ गागराई, विधायक श्रीमती जोबा मांझी, ओडिशा के पूर्व विधायक प्रहलाद मुख्य तौर पर उपस्थित थे. झामुमो जिला अध्यक्ष पूर्व विधायक रामदास सोरेन ने कार्यक्रम की अध्यक्षता की.

इसे भी पढ़ें – शर्मसार स्वास्थ्य विभाग : कहीं बेटे का शव तो कहीं सर्पदंश की शिकार बेटी को गोद में उठाए दिखे बेबस…

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Advt

Related Articles

Back to top button