NationalWorld

संयुक्त राष्ट्र :  रुख में बदलाव, भारत ने इजरायल के समर्थन में किया वोट  

विज्ञापन

UN :   भारत ने इजरायल को लेकर अपने अब तक के रुख में बदलाव कर लिया है. बता दें कि  संयुक्त राष्ट्र की आर्थिक और सामाजिक परिषद में इजरायल के एक प्रस्ताव के समर्थन में भारत ने  वोट किया है.  इजराइली प्रस्ताव में फिलिस्तीन के एक गैर-सरकारी संगठन शहीद को सलाहकार का दर्जा दिये जाने पर आपत्ति जताई गयी थी,  इजरायल ने कहा कि संगठन ने हमास के साथ अपने संबंधों का खुलासा नहीं किया था, आखिरकार संगठन को संयुक्त राष्ट्र में पर्यवेक्षक का दर्जा देने का प्रस्ताव खारिज हो गया.

इसे भी पढ़ेंः गुजरात में कल दस्तक देगा Cyclone Vayu, रफ्तार होगी 140-165 किमी प्रति घंटा, स्कूल-कॉलेज बंद

आतंकी संगठन शहीद को पर्यवेक्षक का दर्जा देने की अपील खारिज

दिल्ली में तैनात इजरायल की राजनयिक माया कडोश ने समर्थन में वोट डालने पर भारत का आभार जताते हुए ट्वीट किया, इजरायल के साथ खड़े रहने और आतंकी संगठन शहीद को संयुक्त राष्ट्र के पर्यवेक्षक का दर्जा देने की अपील को खारिज करने के लिए भारत का शुक्रिया.  हम साथ मिलकर आतंकी संगठन के खिलाफ काम करते रहेंगे, जिन संगठनों का मकसद नुकसान पहुंचाना है.

advt

इजरायल ने संयुक्त राष्ट्र की आर्थिक और सामाजिक परिषद में 6 जून को मसौदा प्रस्ताव एल.15 पेश किया.  इस प्रस्ताव के पक्ष में रिकार्ड 28 मत, जबकि 14 देशों ने इसके खिलाफ मतदान किया. पांच देश मत विभाजन में शामिल नहीं हुए.  प्रस्ताव के पक्ष में मतदान करने वाले देशों में ब्राजील, कनाडा, कोलंबिया, फ्रांस, जर्मनी, भारत, आयरलैंड, जापान, कोरिया, यूक्रेन, ब्रिटेन और अमेरिका शामिल हैं. प्रस्ताव के विरोध में  मिस्र, पाकिस्तान, तुर्की, वेनेजुएला, यमन, ईरान और चीन सहित 14 देशों ने वोटिंग की.

परिषद ने एनजीओ के आवेदन को लौटाने का फैसला किया क्योंकि इस साल की शुरुआत में जब उसके विषय पर विचार किया जा रहा था, गैर-सरकारी संगठन महत्वपूर्ण जानकारी पेश करने में विफल रहा.  एनजीओ ने अपने आवेदन में संयुक्त राष्ट्र के पर्यवेक्षक का दर्जा दिये जाने की अपील की थी.

इसे भी पढ़ेंः मोदी कैबिनेट की पहली मीटिंग आज,  तीन तलाक, 100 दिनों के एक्शन प्लान पर चर्चा संभव

Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close