JamshedpurJharkhand

यूनियन का कार्यकाल 36 माह, 26 माह गुजर जाने के बाद भी चुनाव नहीं, अब हाई कोर्ट में केस कर जुस्को श्रमिक चुनाव कराने की मांग 

Jamshedpur : दो साल से ज्यादा लंबित जुस्को श्रमिक यूनियन के चुनाव का मामला हाई कोर्ट पहुंच गया है. विपक्ष के नेता गोपाल जायसवाल ने झारखंड हाई कोर्ट में याचिका दायर कर यूनियन का चुनाव जल्द कराने की मांग की है. उधर, यूनियन की आमसभा की वैधता को लेकर पहले से ही हाई कोर्ट में केस चल रहा है.

पूर्व महामंत्री एसएल दास ने डीएलसी को शिकायत कर आम सभा में हुई धांधली की जानकारी दी थी. श्रमायुक्त ने आम सभा में धांधली को सही पाया. इसके बाद निवर्तमान अध्यक्ष रघुनाथ पांडेय ने श्रमायुक्त के आदेश को हाई कोर्ट में चुनौती दी है. एसएल दास ने बताया कि रघुनाथ पांडेय नहीं चाहते हैं कि चुनाव हो. अब जबकि यूनियन के तीन साल के कार्यकाल में केवल 10 माह बाकी रह गये हैं, तो वे इस मामले को कानूनी पचड़े में फंसाकर चुनाव को टालना चाहते हैं.

रघुनाथ पांडेय की मंशा ही नहीं है कि चुनाव हो. वह बिना चुनाव के दो साल से कंपनी की सारी सुविधाओं का भोग कर रहे हैं और कर्मचारियों का नुकसान हो रहा है. दास ने सवाल किया कि आखिर पांडेय किस हैसियत से यूनियन ऑफिस में मीटिंग करते हैं? असंगठित मजदूर से लेकर कांग्रेस की बैठक जुस्को यूनियन के दफ्तर में करते हैं. इससे साफ है कि प्रबंधन भी उनके साथ है और अध्यक्ष नहीं होने पर भी उन्हें सभी सुख-सुविधाएं दे रहा है. प्रबंधन चाहता है कि वैसी यूनियन हो, जो उनके अनुसार काम करें. पांडेय ने टाटा स्टील में नया ग्रेड बनाकर बता दिया है कि वह कितना मजदूर प्रेमी है? लेकिन इस बार उनका दाल नहीं गलने वाला है. कंपनी के मजदूर उनके विरोध में सामने आ रहे हैं.

Chanakya IAS
Catalyst IAS
SIP abacus

ये भी पढ़ें- घाटशिला : हिंदुस्तान कॉपर लिमिटेड में नए वेज रिवीजन पर समझौता, जानिए मजदूरों को कितना होगा फायदा

The Royal’s
Sanjeevani
Pushpanjali

Related Articles

Back to top button