Lead NewsNational

केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल का दावा, अगले 5 साल में 10 लाख नौकरियां देगी मोदी सरकार

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच हुआ आर्थिक सहयोग और व्यापार समझौता

New Delhi : केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने देश में बेरोजगार युवाओं को खुशखबरी दी है. उन्होंने कहा कि हम अगले 4-5 वर्षों में भारत में 1 मिलियन यानी 10 लाख रोजगार देगें. भारत-ऑस्ट्रेलिया आर्थिक सहयोग और व्यापार समझौते पर गोयल ने कहा कि हमने भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच शिक्षा संस्थानों के सहयोग पर भी चर्चा की है.

इसे भी पढ़ें:FIFA World Cup 2022 को ले बड़ा ऐलान, 32 टीमों को 8 ग्रुप में बांटा गया, कतर में होगा टूर्नामेंट

ऑस्ट्रेलिया में काम करनेवालों के वर्क वीजा को मिलेगा कानूनी रूप

ram janam hospital
Catalyst IAS

इस दौरान उन्होंने कहा कि हमारे लाखों युवा-युवती वहां पढ़ रहे हैं, उन सबके लिए एक तरह से वर्क वीजा को कानूनी तौर पर इस एग्रीमेंट के द्वारा कंफर्म किया गया है. ये एग्रीमेंट भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच मित्रता और एकता का प्रतीक बनेगा.

The Royal’s
Sanjeevani
Pitambara
Pushpanjali

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि हम पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए वर्क और हॉलिडे वीजा व्यवस्था पर विचार कर रहे हैं. भारतीय छात्रों के लिए, विशेष रूप से एसटीईएम स्नातकों के लिए 2 से 4 वर्षों के बीच अध्ययन के बाद का कार्य वीजा उपलब्ध होगा.

इसे भी पढ़ें:बेटी को न्याय दिलाने पिता बैठा मुख्यमंत्री आवास के बाहर धरने पर, हुआ हंगामा

भविष्य में व्यापार दोगुना हो जाएगा

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि हम व्यापार बाधाओं को दूर कर रहे हैं, जिससे भविष्य में व्यापार दोगुना हो जाएगा. इसमें श्रम-उन्मुख क्षेत्रों के लिए काफी संभावनाएं होंगी. भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच आर्थिक सहयोग और व्यापार समझौते से अगले 5 वर्षों में द्विपक्षीय व्यापार को मौजूदा 27 बिलियन डॉलर से लगभग 45-50 बिलियन डॉलर तक ले जाने की उम्मीद है.

भारत-ऑस्ट्रेलिया नेचुरल पार्टनर

गोयल ने बताया कि भारत-ऑस्ट्रेलिया नेचुरल पार्टनर हैं, जो लोकतंत्र, कानून के शासन और पारदर्शिता के साझा मूल्यों से जुड़े हैं. 2 भाइयों की तरह 2 राष्ट्रों ने महामारी में एक-दूसरे का सहयोग किया.

उन्होंने कहा कि वहां से जो कच्चा माल आता है वो भारत में उत्पादन को बढ़ाने के लिए अच्छा है. शुरुआती संकेत बताते हैं कि 10 लाख से अधिक लोगों को इससे काम के अवसर अगले 4-5 वर्षों में मिलेंगे और आगे चलकर और बढ़ेंगे.

लोगों को उम्मीद नहीं थी कि विकसित देशों के साथ भारत फ्री ट्रेड एग्रीमेंट कर पाएगा. ये एक ऐसा देश है जहां के लोगों के साथ भारत के बहुत अच्छे संबंध हैं, हम दोनों एक-दूसरे की मदद करते हैं.

इसे भी पढ़ें:FIH Hockey Womens Junior World Cup: सलीमा टेटे की कप्तानी में भारतीय टीम की शानदार शुरूआत, वेल्स को 5-1 से हराया

Related Articles

Back to top button