JharkhandLead NewsRanchi

केंद्रीय मंत्रिमंडल से कायस्थ समाज के सभी मंत्रियों को हटाया जाना दुर्भाग्यपूर्णः सुबोधकांत सहाय

मंत्रिमंडल में हिस्सेदारी नहीं मिली तो समाज के सारे लोग सड़क पर उतरेंगे

Ranchi: पूर्व केंद्रीय मंत्री सह अखिल भारतीय कायस्थ महासभा के अध्यक्ष सुबोधकांत सहाय ने केंद्रीय मंत्रिमंडल विस्तार को समाज के लिए दुर्भाग्यपूर्ण बताया है. उन्होंने कहा कि मंत्रिमंडल से कायस्थ समाज के सभी मंत्रियों को हटा दिया गया. भारतीय राजनीति का इतिहास देखेंगे तो कायस्थ समाज की भागीदारी देश की आजादी से लेकर राष्ट्र के पुनर्निर्माण तक रही है. देश के पहले राष्ट्रपति हमारे समाज से ही मिले थे.

इसे भी पढ़ें :चिराग को हाईकोर्ट से भी झटका, सदन में ‘चाचा’ के चयन के खिलाफ दायर याचिका खारिज की

हमारे समाज से लाल बहादुर शास्त्री, जय प्रकाश नारायण, अन्ना दुरई, बीजू पटनायक, ज्योति बसु, केबी सहाय, बाला साहब ठाकरे जैसी विभूतियों के योगदान को नहीं भुलाया जा सकता.

पिछले कुछ वर्षों में कायस्थ समाज ने यशवंत सिन्हा, शत्रुघ्न सिन्हा, रविशंकर प्रसाद व आरके सिन्हा जैसे नेता देश को दिये. इन सब के बावजूद वर्तमान सरकार ने हमारे समाज को नज़रअंदाज किया है और हमारी राजनीतिक भागीदारी ख़त्म करने का प्रयास किया है जो ही अत्यंत दुःखद है.

इसे भी पढ़ें :झारखंड के जिलों में कोवैक्सीन की 1 लाख डोज भेजी गयी, रांची को सबसे ज्यादा 8600

एक पढ़ा लिखा वर्ग होने के कारण हमारा अपनी बातों को रखने का हमेशा एक सभ्य तरीका रहा है और शायद इसी का फल हमें भुगतना पड़ रहा है. एक बड़ा वोट बैंक होने के बावजूद समाज हमेशा दरकिनार किया जाता रहा है.

समाज के सही मूल्य को समझा नहीं जाता है. इस पूरे घटनाक्रम से समाज के लोगों में रोष है और इसका हमें पुरजोर विरोध करना होगा. उन्होंने मंत्रिमंडल में समाज की भागीदारी की मांग की है. हिस्सेदारी नहीं मिली तो समाज के सारे लोग सड़क पर उतरेंगे.

इसे भी पढ़ें :सभी डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल में खुलेगा पोस्ट कोविड केयर वार्ड

Related Articles

Back to top button