BiharCorona_UpdatesGarhwaJharkhandLateharLead NewsPalamuTOP SLIDER

अक्षम्य लापरवाही :  स्वास्थ्य कर्मी आक्सीजन लगाना भूला, पलामू के पूर्व सांसद जोरावर राम की कोरोना से मौत

लंबे समय से चल रहे थे बीमार, मेदनी राय मेडिकल कॉलेज अस्पताल में थे इलाजरत  

Palamu : पलामू के पूर्व सांसद और अविभाजित बिहार के समय मंत्री रहे जोरावर राम का कोविड-19 संक्रमण से निधन हो गया. सोमवार की रात 9 बजे उन्होंने मेदनी राय मेडिकल कॉलेज अस्पताल में अंतिम सांस ली. जोरावर राम लंबे समय से बीमार चल रहे थे. इस बीच उन्हें कोरोना भी हो गया था. उनका इलाज मेदनी राय मेडिकल कॉलेज अस्पताल में स्थित कोविड-19 सेंटर में चल रहा था.

पूर्व सांसद के बड़े पुत्र जेएमएम नेता राकेश पासवान ने पूर्व सांसद की मौत की पुष्टि की है. जेएमएम नेता ने कहा कि कोरोना वायरस होने के कारण उनके पिता का शव कोविड-19 सेंटर में ही रखा गया है. मंगलवार सुबह उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा. जोरावर राम राष्ट्रीय जनता दल में शामिल थे. उनके छोटे पुत्र राजेश रोशन भी राष्ट्रीय जनता दल में प्रदेश स्तर के नेता हैं.

advt

पूर्व सांसद के निधन की सूचना मिलते ही पलामू में शोक की लहर है. सोशल मीडिया पर श्रद्धांजलि देने का सिलसिला शुरू हो गया है.

इसे भी पढ़ें :इलेक्शन रिजल्ट के बाद बंगाल में सियासी हिंसा उफान पर, केंद्रीय गृह मंत्रालय ने मांगी रिपोर्ट

क्या है पूरा मामला

पूर्व सांसद के बड़े पुत्र झामुमो के केंद्रीय कार्यसमिति सदस्य राकेश पासवान ने बताया कि उनके पिता पिछले लंबे समय से बीमार चल रहे थे. उन्हें मेदनी राय मेडिकल कॉलेज अस्पताल के कोविड-19 सेंटर में भर्ती किया गया था. ऊपरी तल्ला से नीचे शिफ्ट करने के दौरान स्वास्थ्य कर्मी उनके पिता को ऑक्सीजन लगाना भूल गए. निचली तल्ला पर लाने के बाद स्वास्थ्य कर्मियों ने बताया कि उस कमरे में ऑक्सीजन की सुविधा नहीं है. इसके बाद ऊपरी तल्ले में जाकर ऑक्सीजन लाने तक काफी देर हो गई. जब तक ऑक्सीजन लगाया जाता, तब तक उनके पिता की मौत हो चुकी थी. जेएमएम नेता ने स्वास्थ्य कर्मियों की लापरवाही पर नाराजगी व्यक्त की है.

इसे भी पढ़ें :Ranchi News : सदर अस्पताल में सुविधाओं की कमी पर हाईकोर्ट नाराज, कहा 5 May तक सभी सुविधाएं दें

जुझारू और संघर्षशील नेता थे, संयुक्त बिहार में मंत्री भी रहे

पूर्व सांसद जोरावर राम काफी जुझारू और संघर्षशील नेता माने जाते थे. समाजवादी विचारधारा को मानने वाले जोरावर राम हमेशा पलामू प्रमंडल की समस्याओं को लेकर संघर्ष करते रहें. बिहार राज्य के समय पूर्व सांसद जोरावर राम मंत्री भी रहे थे हालांकि उनका कार्यकाल काफी छोटा रहा.

उत्तरी कोयल परियोजना (मंडल) में गेट लगाने और औरंगा कनहर नदी पर बराज बनाने की मांग को लेकर पूर्व सांसद जोरावर राम हमेशा आंदोलन करते रहे.

इसे भी पढ़ें :Health Helpline : कोई परेशानी हो तो स्पेशलिस्ट डॉक्टर है न, सुबह 10 से रात 8 बजे तक देंगे सलाह

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: