न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पर्वों के मायने समझें, दूसरों के साथ मनाने में मिलती है अधिक खुशी: सज्जन

49

Ranchi: हर पर्व के अपने मायने होते हैं. वर्तमान समय में लोग त्योहार मनाते तो हैं, लेकिन इसके महत्व को नहीं समझते हैं. दिवाली के भी अपने मायने हैं. यह पर्व जहां अंधकार से प्रकाश की ओर जाने का संदेश देता है, वहीं यह आपसी भाईचारे, सौहार्द का भी संदेश देता है. लोग अपने परिवार में खुशियां तो मनाते हैं, लेकिन पास पड़ोस के साथ जो सौहार्द पहले देखने मिलता था, अब वो नहीं देखा जाता. उक्त बातें मारवाड़ी सहायक समिति के संयोजक सज्जन पांडिया ने कहा. वे समिति की ओर से आयोजित दिवाली मिलन समारोह में बोल रहे थे. उन्होंने कहा कि समिति की ओर से हर साल दिवाली मिलन समारोह का आयोजन इसलिए किया जाता है ताकि लोग आपस में मिलें और सौहार्द बना रहे.

इसे भी पढ़ें: एक सप्ताह में ही स्थापना दिवस समारोह का टेंट निर्माण की टेंडर का शर्त बदला

जरूरतमंदों के साथ करें आयोजन

सज्जन ने कहा कि ऐसे आयोजन उन स्थानों पर करना चाहिये जहां जरूरतमंदों की संख्या अधिक हो. वहीं समिति की ओर से आयोजनों के दौरान कुछ सहायता की भी व्यवस्था की जानी चाहिए,  ताकि ऐसे लोगों को भी आयोजनों का लाभ मिल सकें. आयोजन में विभिन्न समितियों के सदस्यों ने अपनी उपस्थिति दर्ज करायी. जिसमें अग्रवाल सभा, महेश्‍वरी सभा, हरियाणा मंच, दिंगबर जैन पंचायत, खंडेलवाल वैश्‍य संघ, मारवाड़ी ब्राह्मण समिति, मारवाड़ी युवा मंच समेत अन्य समितियां उपस्थित हुई.

इसे भी पढ़ें – सखी सहेली समूह कर रहा ग्रामीण महिलाओं को जागरूक

सामूहिक दीप प्रज्जवलन किया गया

कार्यक्रम की शुरूआत भजन के साथ की गयी. जिसके बाद वरिष्ठ जनों की ओर से सामूहिक दीप प्रज्जवलन का आयोजन किया गया. इस क्रम में विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया. रंगोली मेकिंग, दीप सजावट, हौजी लकी ड्रॉ आदि खेलों का आयोजन किया गया, जिसमें महिलाओं और बच्चों ने जमकर मस्ती की. मौके पर विजय खोवाल, रवि शंकर शर्मा, जगदीश प्रसाद, ज्ञानचंद्र शर्मा, पृथ्वीराज चौधरी, अजय डिडवानिया, कन्हैया भरतिया, अजय खेतान, ललीत  पोद्दार, आनंद जालान, अषोक लाठ, अन्नु पोद्दार, नीलम मोदी, रेखा अग्रवाल, निर्मल काबरा समेत अन्य लोग उपस्थित थे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: