NationalUttar-Pradesh

बेखौफ अपराधी, UP में एसडीएम, सीओ की मौजूदगी में युवक की हत्या, आरोपी भाजपाई फरार, अधिकारी सस्पेंड

डीएम श्रीहरि प्रताप शाही को पूरे मामले की जांच सौंपी गयी है. सीएम ने आरोपियों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई किये जाने के निर्देश दिये हैं

Lucknow : उत्तर प्रदेश में अपराधी बेलगाम हो गये हैं. लगातार आपराधिक घटनाएं घट रही हैं.   आपराधिक दुस्साहस की एक घटना आज शुक्रवार को सामने आयी है. खबर है कि बलिया जिले के बैरिया थाना क्षेत्र स्थित दुर्जनपुर में एसडीएम और सीओ के सामने ही

Jharkhand Rai

अपराधी ने एक व्यक्ति को गोलियों से छलनी कर गिया. गोली मारने वाला भाजपा कार्यकर्ता बताया गया है. इस गोलीबारी में कई लोग गंभीर रूप से घायल हुए हैं.

इसे भी पढ़ें: ADR की रिपोर्ट : भाजपा रही नंबर वन, 2018-19 में 698 करोड़ रुपए का कॉर्पोरेट चंदा मिला, कांग्रेस को मिले 122.5 करोड़

सीएम योगी आदित्यनाथ ने संज्ञान लिया, एसडीएम, सीओ सस्पेंड 

घटना की खबर मिलते ही सीएम योगी आदित्यनाथ ने संज्ञान लेते हुए घटनास्थल पर मौजूद एसडीएम, सीओ सहित सभी पुलिसकर्मियों को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया है. मुख्यमंत्री के निर्देश पर एसडीएम सुरेश कुमार पाल, सीओ चंद्रकेश सिंह के साथ घटना के दौरान मौजूद रहे सभी आठ पुलिस कर्मियों को निलंबित कर दिया गया है.

डीएम श्रीहरि प्रताप शाही को पूरे मामले की जांच सौंपी गयी है. सीएम ने आरोपियों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई किये जाने के निर्देश दिये हैं.

इसे भी पढ़ें: राहुल गांधी का मोदी सरकार पर एक और हमला, कहा, पाकिस्तान और अफगानिस्तान भी कोरोना संकट से भारत के मुकाबले बेहतर ढंग से निपटे

घटना के समय वहां दुकानों के आवंटन का काम चल रहा था

जानकारी के अनुसार घटना के समय वहां दुकानों के आवंटन का काम चल रहा था. बलिया के बैरिया थाना क्षेत्र में दुर्जनपुर में कोटे की दुकानों के आवंटन के लिए बैठक चल रही थी. इस दौरान अधिकारी द्वारा पहचान पत्र मांगे जाने पर विवाद हो गया. विवाद बढ़ने पर वहां मारपीट शुरू हो गयी और इस क्रम में दौरान गोलीबारी हो गयी.

गोली जयप्रकाश पाल नामक व्यक्ति को लगी, जिसकी अस्पताल ले जाते समय मौत हो गयी.जब इस व्यक्ति की हत्या हुई उस समय एसडीएम और सीईओ वहां मौजूद थे,  आरोपी धीरेंद्र सिंह फरार बताया गया है

आरोपी भाजपा कार्यकर्ता भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह का करीबी

आरोपी भाजपा कार्यकर्ता धीरेंद्र सिंह को स्थानीय भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह का करीबी बताया गया है. इस हत्याकांड को लेकर मृतक जयप्रकाश पाल के भाई ने वहां मौजूद पुलिसकर्मियों पर गंभीर आरोप लगाये हैं.

उसका आरोप है कि जब धीरेंद्र और उसके लोग पत्थरबाजी और फायरिंग कर रहे थे तो पुलिस उनको बचाने का प्रयास कर रही थी और मृतक पक्ष के लोगों को पीटकर भगा रही थी.  भाई ने यह भी आरोप लगाया है कि वारदात के बाद पुलिस ने हत्याकांड को अंजाम देने वाले आरोपी को पकड़ लिया था लेकिन बाद में उसे भीड़ से बाहर ले जाकर छोड़ दिया.

इसे भी पढ़ें:  UN के खाद्य और कृषि संगठन के कार्यक्रम में  मोदी  ने कृषि सुधार को किसानों की आय बढ़ाने वाला करार दिया  

तीन महिलाओं सहित आधा दर्जन लोग गंभीर रूप से घायल

घटना में ईंट पत्थर और लाठी डंडे चलने से तीन महिलाओं सहित आधा दर्जन लोग गंभीर रूप से घायल हो गये हैं. घायलों को इलाज के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सोनबरसा भेजा गया है, जहां उनका इलाज चल रहा है.

युवक को गोली लगते ही मौके पर भगदड़ मच गयी. लोग इधर-उधर भागने लगे. इसी भगदड़ का फायदा उठाकर आरोपी धीरेंद्र सिं मौके से फरार हो गया. पुलिस द्वारा उसके खिलाफ बलिया के रेवती थाने में हत्या का केस दर्ज किया गया है.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: