NationalWorld

#UN_Chief एंटोनियो गुटरेस ने पाकिस्तान में CAA को लेकर भारत के मुस्लिमों को लेकर चिंता जताई

NewDelhi : पाकिस्तानी अखबार डॉन को दिये एक इंटरव्यू में UN चीफ एंटोनियो गुटरेस ने कहा है कि भारतीय संसद में पास किये गये नागरिकता संशोधन एक्ट(CAA) की वजह से बीस लाख लोगों के देश विहीन होने का खतरा है, इनमें से ज्यादातर मुस्लिम हैं. एंटोनियो गुटरेस ने इसे लेकर चिंता जताई है.

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख (UN chief) पाकिस्तान के दौरे पर आये हुए हैं.  एंटोनियो गुटरेस ने पूर्व में जम्मू कश्मीर को लेकर बयान दे चुके हैं.  अब पाकिस्तान में नागरिकता संशोधन कानून को लेकर बयान दिया है.

इसे भी पढ़ें : राज्यों में ब्रांड मोदी की चमक फीकी पड़ने के बाद बीजेपी बदल रही रणनीति

भारत में अल्पसंख्यकों के खिलाफ बढ़ रहे भेदभाव पर चिंता

इंटरव्यू में जब उनसे पूछा गया कि क्या भारत में अल्पसंख्यकों के खिलाफ बढ़ रहे भेदभाव को लेकर वे चिंतिंत हैं? इसके जवाब में एंटोनियो गुटरेस ने कहा, जब भी नागरिकता संबंधी कानूनों में बदलाव किया जाता है, इस तरह के प्रयास किये जाते हैं कि देशविहीनता की स्थिति पैदा न हो, और यह सुनिश्चित किया जा सके कि दुनिया का हर नागरिक किसी न किसी देश का नागरिक भी हो.

इसे भी पढ़ें :  सर्दी के बाद अब गर्मी ने की रिकार्ड तोड़ने की तैयारी, तटीय इलाकों में गर्मी ने दी दस्तक, मुंबई में 39 डिग्री पहुंचा पारा

पाकिस्तान की चार दिनों की यात्रा पर पहुंचे गुटरेस

इससे पूर्व  एंटोनियो गुटरेस द्वारा जम्मू कश्मीर पर की गयी टिप्पणी पर  भारत ने कहा था कि यह क्षेत्र भारत का अभिन्न हिस्सा है और रहेगा तथा जिस मुद्दे पर ध्यान देने की सबसे अधिक जरूरत है, वह है पाकिस्तान द्वारा अवैध रूप से और जबरन कब्जा किये गये क्षेत्र का समाधान करना. पाकिस्तान की चार दिनों की यात्रा पर पहुंचे गुटरेस ने जम्मू-कश्मीर को लेकर दोनों देशों के बीच मध्यस्थता की पेशकश की थी.

इस पर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि कश्मीर मुद्दे पर किसी तीसरे पक्ष की मध्यस्थता की कोई भूमिका नहीं है.  विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा था, भारत की स्थिति बदली नहीं है. जम्मू कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा था, है और रहेगा .

इसे भी पढ़ें : #Amit_Shah से नॉर्थ ब्लॉक में शिष्टाचार भेंट करेंगे दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: