न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

आधार डेटा को सेफ रखने के लिए UIDAI ने लांच किया ‘मास्क्ड आधार फीचर

2,229

आधार की लॉन्चिंग के साथ ही इसके डेटा की सुरक्षा से जुड़ी बहस ने जोर पकड़ लिया. और कई बार आधार से जुड़ा डेटा ब्रीच होने के मामले भी सामने आ चुके हैं. इसे रोकने के लिए यूनीक आइडेंटीफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (यूआईडीएआई) ने इसके डेटा की सुरक्षा और गोपनीयता को बनाये रखने के लिए हाल ही में एक फीचर लॉन्च किया है. इस फीचर को ‘मास्क्ड आधार’ का नाम दिया गया है. अब इसकी मदद से आप अपने डाउनलोडेड ई-आधार में 12 डिजिट के यूनीक आइडेंटीफिकेशन नंबर को कवर या मास्क कर सकते हैं. इससे आपकी गोपनीयता बरकरार ऱखने की गारंटी बढ़ जाती है. इस फीचर से जुड़ीं ये हैं कुछ जरूरी और खास बातें:

ध्यान से देखने पर मास्क्ड आधार कार्ड में आपके 12 डिजिट के यूनीक आइडेंटीफिकेशन नंबर में से केवल चार  डिजिट ही दिखाई पड़ते हैं. बाकी के डिजिट हिडेन होते हैं. इस तरह आपके बाकी डीटेल्स एकदम सेफ होते हैं और कोई उन्हें कोई भी साइबर अपराधी ऐक्सेस नहीं कर सकता. यहां बता दें कि मास्क्ड आधार सर्विस किसी अन्य आईडी प्रूफ की तरह ही मान्य होता है.

हाल के दिनों में डेटा लीक के बढ़ते खतरे और इससे जुड़े संभावित खतरनाक परिणामों के चलते ये सवाल तेजी से उठने लगे थे कि क्या आधार को एक आईडी प्रूफ की तरह दिखाना सेफ हो सकता है.  ऐसे में यूआईडीएआई ने मास्क्ड आधार इंट्रोड्यूस किया है, जिससे इसे आईडी की तरह पेश किया जा सकता है. लेकिन इस तरह कि सभी डीटेल्स दिखायी न दें.

फीचर को इस तरह से किया जा सकता है इफेक्टिव

SMILE

सबसे पहले आप यूआईडीएआई की वेबसाइट पर लॉग ऑन करें. इसके बाद आधार ऑनलाइन सर्विसेज सेक्शन में जाकर ‘डाउनलोड आधार’ पर क्लिक करना है. अगले ही पेज पर ‘मास्क्ड आधार’ को अपनी प्रिफरेंस चुनें. यहां आपको अपने आधार नंबर, नाम, पिन कोड और सिक्यॉरिटी कोड जैसे डीटेल्स दिये गये स्थानों पर भरने होंगे. इसके बाद ‘रिक्वेस्ट ओटीपी’ पर क्लिक करना होगा. ओटीपी डालने के बाद आपको ‘डाउनलोड आधार’ को सेलेक्ट कर इसे डाउनलोड करने का ऑप्शन मिल जायेगा.

यही नहीं, आप मास्क्ड आधार को पासवर्ड डालने के बाद ऐक्सेस भी कर सकते हैं. यह पासवर्ड आपके प्रथम नाम की शुरुआती चार लेटर्स (कैपिटल) और ईयर ऑफ बर्थ के चार  डिजिट्स मिलाकर बनाया जाता है. अगर किसी का नाम  KAMLESH और जन्म वर्ष 1978  हो, तो उसका पासवर्ड ‘KAMLE1978’ होगा. ये भी जानना जरूरी है कि मास्क्ड आधार एक आईडी प्रूफ की तरह ट्रेन, फ्लाइट या होटेल बुकिंग के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है.

इसे भी पढ़ेंः गूगल आपके ब्लॉग को कब डिलिट करता है

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: