न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

रांची से अपहृत जूता-चप्पल व्यवसायी उदय ठाकुर का नरकंकाल चतरा के चकला पहाड़ से बरामद

76

Chatra/ Ranchi : रांची के अरगोड़ा थाना क्षेत्र से अपहृत जूता- चप्पल व्यवसायी उदय ठाकुर का शव शनिवार को चतरा के हंटरगंज थाना क्षेत्र के चकला पहाड़ से पुलिस ने बरामद किया. रांची से भी एक पुलिस की टीम हंटरगंज गयी हुई थी. जिसके बाद हंटरगंज पुलिस और रांची से गयी पुलिस टीम द्वारा हंटरगंज के चकला पहाड़ से अपहृत व्यवसायी उदय ठाकुर का नरकंकाल बरामद किया. इस मामले में पुलिस ने हत्या के आरोपी एक व्यक्ति गिरफ्तार किया है.

इसे भी पढ़ें – सीएनटी जमीन पर गलत कागजात के सहारे लोन देने वाले बैंक अधिकारियों पर सीबीआइ कर सकती है कार्रवाई

दो अक्टूबर को ही कर दी गयी थी हत्या

मिली जानकारी के अनुसार रांची के अरगोड़ा से एक अक्टूबर को उदय ठाकुर के अपहरण के बाद दो अक्टूबर को ही उसकी हत्या कर दी गयी थी. बताया जा रहा है कि अफीम तस्करी को लेकर हुआ था विवाद. जिसके बाद उदय ठाकुर की हत्या कर दी गयी. मृतक उदय ठाकुर हंटरगंज थाना क्षेत्र का ही रहने वाला था. इस मामले में मृतक उदय ठाकुर के परिजनों द्वारा 5 अक्टूबर को अरगोड़ा थाना में अपह्रण की प्राथमिकी दर्ज कराई गयी थी. जिसके बाद पुलिस मामले के छानबीन में जुट गई थी. इस अपहरण कांड में पुलिस ने पहले तीन संदिग्ध लोगों को हिरासत में ले रखा था.

पुलिस की दवाब के चलते अपह्रण में उपयोग किया बोलेरो का चालक सरदार संजय सिंह ने आत्मसमर्पण कर दिया था. उसके अलावा एक अन्य संदिग्ध अमित कुमार ने भी रांची मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी की अदालत में आत्मसमर्पण किया था.

इसे भी पढ़ें – कांग्रेस ने कहा, पारा शिक्षकों की मांग जायज, 19 को पार्टी करेगी धरना-प्रदर्शन

 फुटपाथ पर चप्पल दुकान लगाता था उदय ठाकुर

मृतक उदय ठाकुर हंटरगंज थाना के गेरुआ गांव का रहने वाला है. वह अपने चार बड़े भाईयों के साथ रांची में रहकर मारवाड़ी कॉलेज से एमबीए कर रहा था. आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं होने के कारण पढ़ाई का खर्च निकालने के लिए उसने फुटपाथ पर चप्पल की दुकान लगा रखी थी. वह अक्सर कोलकाता से चप्पल खरीद कर लाया करता था और रांची में बेचा करता था.

इसे भी पढ़ें – NEWS WING IMPACT: निगम ने डीजल चोरी की जांच के लिए बनाई 22 सदस्यीय कमेटी

कैसे दिया गया अपह्रण की घटना को अंजाम

एक अक्टूबर को मृतक उदय अपने घर से बैग और करीब 99 हजार रुपया लेकर निकला. तभी वहां उसके दोस्त छोटेलाल आया, उसने बताया कि उसके और कुछ साथी बोलेरो से हटिया स्टेशन जा रहे हैं, हम लोगों को वहां छोड़ देंगे. फिर बोलेरो पर सवार कुछ युवकों को वहां बुलाया और उस पर सवार होकर दोनों हटिया के लिए निकल पड़े. कुछ दिनों तक उदय कोलकाता से वापस नहीं लौटा तो परिजनों की चिंता बढी. इसी बीच अपहृत व्यवसायी के दोस्त छोटेलाल वहां पहुंच गया. उससे उदय के परिजनों ने जब पूछताछ की तो वह सही जवाब नहीं दे पाया. इससे परिजनों का संदेह हुआ और उसे पकड़कर अरगोड़ा थाने के हवाले कर दिया.

इसे भी पढ़ें –जागरूक बनकर लें विकास का लाभ : बीडीओ

 कबूल की अपह्णण की थी बात

अरगोड़ा थाने में जब पुलिस ने छोटेलाल से सख्ती से पूछताछ की तो उसने कबूल किया कि उदय का अपह्रण कर लिया गया है. अपहृत व्यापारी भाई के मुताबिक उनकी मौजूदगी में छोटेलाल ने पुलिस को बताया कि अपहरण में प्रयुक्त गाड़ी पर गया जिला के डोभी थाना के कुसुमा गांव निवासी राजेश कुमार, बाराचट्टी थाना के चंदा गांव निवासी छोटे उर्फ मुन्ना, हंटरगंज थाने के बेलगाड़ा नावाडीह ग्राम निवासी अमित कुमार एवं इसी थाने मोहम्मद जमील सवार थे.

इसे भी पढ़ें –राज्य के 70 हजार पारा टीचर गोलबंद: अब आर-पार की लड़ाई, सरकारी आदेश दरकिनार कर 20 से जेल भरो आंदोलन

मृतक उदय ठाकुर ने किया था विरोध

उदय ठाकुर जिस गाड़ी से जा रहा था. जब वो गाड़ी हटिया स्टेशन की ओर ना जा कर रातू रोड की दिशा में मुड़ी तो उदय ने विरोध किया. इसपर गाड़ी पर सवार लोगों ने कहा कि उसका अपह्रण कर लिया गया है. आरोपियों ने कहा चुप बैठो नहीं तो हत्या कर दी जाएगी. इसके बाद उदय को कैमिकल सुंघा दिया गया. जिसके बाद वो बेहोश हो गया.

इसे भी पढ़ें –पलामू : पुलिस के जवान शादी के नाम पर करते थे यौन शोषण, भेजे गए जेल

गाड़ी के चालक ने पुलिस के सामने दिया था बयान

गाड़ी के चालक संजय ने आत्मसमर्पण के बाद पुलिस को बताया कि उसे वाहन का किराया हंटरगंज के उप प्रमुख संगीता देवी के पति प्रदीप साव ने पांच सौ रुपये चुकाया था और ढा़ढस बंधाया था कि तुम्हें कुछ नहीं होगा, हम सब देख लेंगे. उसने कहा कि कनौदी स्कूल से उसे बाइक पर लेकर कुछ लोग सीतारामपुर की ओर चले गये. उस इलाके के कुछ ग्रामीणों के मुताबिक बाइक पर सवार अपहृत टॉयलेट के बहाने उतरा और चिल्लाते हुए ग्रामीण के घर में घुस गया.

वह चिल्लाता रहा कि मेरा अपह्ण कर लिया गया है. मुझे बचाओ मगर किसी ने उसकी मदद नहीं की. अलबत्ता ग्रामीणों के सामने ही अपहर्ताओं ने अपहृत युवक की जमकर धुनाई कर दी और उसे मारते पीटते चकला पहाड़ की ओर लेकर चले गए. तब से अब तक अपहृत का कोई सुराग नहीं मिल पाया था. शनिवार को पुलिस ने चकला पहाड़ पर उदय ठाकुर का नरकंकाल बरामद किया.

इसे भी पढ़ें –मधुमेह से बचने के लिए रविवार को दौड़ लगायेंगे कतरास के हजारों लोग

क्या कहते हंटरगंज थाना प्रभारी

हंटरगंज थाना प्रभारी अग्नू भगत ने कहा कि आज रांची से आई पुलिस की टीम और हंटरगंज थाना की पुलिस के द्वारा किए गए छानबीन के बाद उदय ठाकुर का नरकंकाल चकला पहाड़ से बरामद किया गया.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: