न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बोकारो: #MobLynching का शिकार होने से बचे दो युवक, पुलिस ने मशक्कत के बाद निकाला भीड़ से

1,874

Bokaro:  जिले के बालीडीह थाना क्षेत्र के झोपड़ो गांव में दो युवक मॉब लिंचिंग का शिकार होते-होते बच गये. बालीडीह पुलिस ने दोनों युवकों को ग्रामीणों की भीड़ से काफी मशक्कत के बाद निकाला. उग्र भीड़ पुलिस से रात के दो बजे से सुबह छह बजे तक उलझी रही.

हालत गंभीर देखर पुलिस ने घटना स्थल कैंप किया. जिसमें बोकारो पुलिस लाईन से अतिरिक्त पुलिस के साथ आस-पास के कई थानों से जवानों को बुलाया गया.

Aqua Spa Salon 5/02/2020

इसे भी पढ़ेंः देवेश, राज, अमित, सुशील, सुमित, दीपक, मंटू समेत कई ने बताया झारखंड की बदहाली के लिए जिम्मेदार कौन?

इस तरह घटी पूरी घटना

घटना स्थल से दोनों युवकों को निकालने के बाद बालीडीह पुलिस थाना ले गयी. दोनों युवक प्रियांशु कुमार और विक्की कुमार क्रमशः बोकारो सेक्टर-12 और सेक्टर-2 के रहने वाले हैं. रात में उन दोनों को एनएच पर स्कूटी पर भटकते देख पुलिस ने उन्हें रोकने की. लेकिन दोनों युवक स्कूटी लेकर वनसिमली की ओर चले गये. जिसके बाद पुलिस ने उनका पीछा किया और झोपड़ों गांव के पास पहुंची.

इधर, गांव में बच्चा चोर के शोर से अफरा-तफरी मच गयी. ग्रामीणों ने दोनों युवक को घेर लिया. दोनों युवक भीड़ में घिर गये. इस बीच विक्की कुमार वहां से भागने में सफल रहा. लेकिन भीड़ ने प्रियांशु कुमार की जमकर पिटायी कर दी. पीछे से पुलिस पहुंची. भीड़ से युवक को निकालने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ी.

Related Posts

इसे भी पढ़ेंः #ElectionCommission ने हरियाणा-महाराष्ट्र में विस चुनाव का किया ऐलान, 21 अक्टूबर को वोटिंग, 24 को काउंटिंग

ग्रामीणों पर दर्ज होगी प्राथमिकी: थाना प्रभारी

बच्चा चोर के आरोप में युवक को पकड़कर मारपीट करने और पुलिस के साथ उलझने पर पुलिस की ओर से प्राथमिकी दर्ज करने की तैयारी चल रही है. इसकी जानकारी देते हुए बालीडीह थाना प्रभारी इंस्पेक्टर राजीव कुमार ने कहा कि लोग युवक को पुलिस के हवाले कर सकते थे. लेकिन पुलिस के पहुंचने पर भी ग्रामीणों ने युवक को पीटना जारी रखा. पुलिस ने रोका तो भीड़ में शामिल लोग पुलिस से उलझ गये. हालांकि अभी पूरे मामले की पड़ताल चल रही है. रात में दोनों युवक घर से कैसे निकले इसकी भी पड़ताल की जा रही है.

Gupta Jewellers 20-02 to 25-02

इसे भी पढ़ेंः टंडवा में #CoalProject से लेवी वसूलीः क्या सिर्फ पर कतरने से खत्म हो जायेगा वसूली तंत्र

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like