West Bengal

रेलवे में ठेका श्रमिक बनने गये बर्दवान के दो युवक जयपुर में बने बंधक, दलाल गिरफ्तार

Asansol : जयपुर (राजस्थान) में कंपनी की राशि गबन कर भागनेवाले ठेकेदार बिट्टू बर्मन के दो कर्मियों को कंपनी ने बंधक बना रखा है. इन कर्मियों के परिजनों ने आसनसोल साउथ थाना में उसके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करायी और अपने बेटों की घर वापसी की मांग की. पुलिस ने आरोपी बिट्टू को गिरफ्तार कर लिया है. दोनों कर्मियों की रिहाई के लिए प्रयास जारी है.

विद्यासागर (झारखंड) निवासी बिट्टू बर्मन रेलवे के ठेका श्रमिक का कार्य दिलाने के नाम पर बर्दवान निवासी कार्तिक बर्मन, दिलदारनगर निवासी छोटू प्रसाद और मोहिशीला कुमारपाडा निवासी दिलीप शर्मा को छह माह पहले जयपुर (राजस्थान) ले गया था. उसने 12-12 हजार रूपये वेतन, खाने और रहने की नि:शुल्क व्यवस्था का वादा किया था.

पांच माह तक लगातार काम करने के बाद भी भुगतान न होने तथा कार्य में असुविधा होते देख दिलदारनगर निवासी छोटू जयपुर से आसनसोल लौट आया. इधर 15 दिनों से कार्तिक और दिलीप के परिजन फोन पर बात नहीं कर पा रहे हैं. उन्होंने बिट्टू से पूछताछ की. परंतु बिट्टू कभी केरल तो कभी मुंबई तो कभी गंगटोक में होने की बात कह कर बचता रहा.

advt

इसे भी पढ़ें : पलामू: पशु अस्पतालों को साधन संपन्न बनाने के सरकारी दावे फेल, नहीं हैं सुविधाएं, जीवन रक्षक दवाएं तक नहीं

पुराना परिचय था 

कार्तिक के पिता सुरेश बर्मन ने कहा कि बिट्टू का उसके बेटे से पुराना परिचय था. उन्हें जानकारी मिली है कि तीनों लड़कों को जयपुर ले जाकर बिट्टू ने जयपुर के ठेकेदार गज्जू से मोटी रकम की धोखाधड़ी की है. बिट्टू की शादी दिलदारनगर निवासी स्वीटी से हुई है. इसी कारण छोटू से उसका परिचय हुआ. दिलीप की मां ने कहा कि उन्हें उनका बेटा सही-सलामत वापस चाहिए.

इस संबंध में परिजनों ने आसनसोल साउथ थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई. पुलिस ने विद्यासागर एवं करमाटांड स्थित उसके आवासों पर छापेमारी की. बाद में दिलदारनगर से उसे गिरफ्तार किया गया. पुलिस बिट्टू से पूछताछ कर रही है. दोनों युवकों के बारे में जानकारी ली जा रही है.

कार्त्तिक के पिता रवाना हुए जयपुर

कार्तिक के पिता श्री बर्मन ने कहा कि इकलौते बेटे की बरामदगी के लिए अपने स्तर से भी वे प्रयास करेंगे. उनके बेटे के पांच माह का वेतन मिले या न मिले, परंतु वे खुद जयपुर के ठेकेदार से मिलकर अपने बेटे को छोड़ने की गुहार लगायेंगे. वे आसनसोल से जयपुर के लिए रवाना हुए.

adv

इसे भी पढ़ें : पलामू: ननबैकिंग कंपनी में निवेशकों का 10 करोड़  बकाया, 168 एजेंट पहुंचे हाईकोर्ट

हड़पी राशि की वापसी चाहता है ठेकेदार

जयपुर के ठेकेदार गज्जू से संपर्क करने पर उसने कहा कि कार्तिक, दिलीप और छोटू को उनके पास काम पर रखवाने वाले बिट्टू बर्मन ने उनसे धोखाधड़ी की है. उन्होंने बिट्टू को वापस जयपुर भेजने और रकम वापसी की मांग की. आशंका जताई जा रही है कि उसने दोनों युवकों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करा उन्हें जेल भिजवा दिया है. राशि मिलने पर वह शिकायत वापस लेने को तैयार है.

दीपक की सुरक्षित वापसी चाहती है मां 

दीपक की मां ने कहा कि बिट्टू से पूछताछ कर पुलिस मामला सामने लाये और उनके बेटे को जयपुर से जल्द वापस लाये. वह किसी अनहोनी की आशंका से भयभीत हैँ. उसे पुलिस प्रशासन पर पूरा भरोसा है. उन्होंने मामले में पुलिस से सहयोग की मांग की है.

इसे भी पढ़ें : बीसीसीएल की बंद बरारी कोलियरी के समीप भू-धंसान और गैस रिसाव से लोगों में दहशत

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button