न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

एक तीर से पीएम के दो निशानेः ‘यूपी वालों को बाहरी समझती हैं दीदी, मायावती कर रहीं समर्थन’

दीदी का रैवया मैं काफी दिनों से देख रहा हूं, आज देश भी देख रहा है- प्रधानमंत्री

840

Ghosi (UP): आखिरी चरण के चुनाव से पहले देश का चुनावी माहौल बंगाल शिफ्ट होता दिख रहा है. शुक्रवार तक होने वाले चुनावी प्रचार में हर पार्टी ने जोर लगा रखा है.

mi banner add

इसी कड़ी में पीएम मोदी की भी आज पांच रैलियां हैं. दो प. बंगाल में और तीन यूपी में. इन रैलियों में प्रधानमंत्री के निशाने पर विरोधी रहे और उनमें भी खासकर टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी.

इसे भी पढ़ेंःनीतीश कुमार जैसे नेताओं के साथ मिलकर केंद्र में बनायेंगे सरकार- गुलाम नबी

दीदी का रवैया पूरा देश देख रहा है

यूपी के घोसी में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी पर तीखे प्रहार किये. उन्होंने कहा कि ममता दीदी का ये रवैया में बहुत समय से देख रहा हूं. अब देश भी देख रहा है.

साथ अमित शाह की रैली के दौरान भड़की हिंसा और इस दौरान ईश्वरचंद्र विद्यासागर की प्रतिमा तोड़े जाने की निंदा करते हुए कहा कि ईश्वरचंद्र विद्यासागर के विजन के लिए समर्पित हमारी सरकार उसी जगह पर ईश्वरचंद्र विद्यासागर की पंचधातु की मूर्ति स्थापित करेगी और टीएमसी के गुंडों को जवाब देगी.

ममता के बहाने मायावती पर हमला

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश के घोसी में एक चुनावी रैली में कहा कि एक महीने पहले तक ‘मोदी हटाओ’ का राग अलाप रहे महामिलावटी आज बौखलाए हुए हैं, क्योंकि देश ने उनकी पराजय पर मुहर लगा दी है.

और यूपी ने तो उनका पूरा गणित ही बिगाड़ दिया है. देश इन महामिलावटी लोगों की सच्चाई शुरू से ही जानता है कि मोदी को हटाना तो एक बहाना था, जिसकी आड़ में इन्हें अपने भ्रष्टाचार के पाप को छिपाना था.

इसे भी पढ़ेंःचुनाव पूर्व एग्जिट पोल पर सख्त आयोग, ट्विटर से एग्जिट पोल संबंधी पोस्ट हटाने को कहा

साथ ही मायावती पर निशाना साधते हुए कहा कि जिस तरह ममता दीदी वहां पर यूपी-बिहार और पूर्वांचल के लोगों पर निशाना साध रही हैं, मैंने सोचा था कि बहन मायावती इस पर ममता दीदी को जरूर खरी-खोटी सुनाएंगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ. उन्हें आपकी चिंता नहीं है, उन्हें कुर्सी का खेल खेलना है.

सपा-बसपा गठबंधन पर हमलावर होते हुए पीएम ने कहा कि उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा के जमीन से कटे नेताओं ने जाति के आधार पर एक अवसरवादी गठबंधन किया. लेकिन अपने कार्यकर्ताओं को भूल गए जिसकी वजह से ये कार्यकर्ता आज भी एक दूसरे पर हमले कर रहे हैं.

इसे भी पढ़ेंःपुलवामा में मुठभेड़ः तीन आतंकी ढेर, एक जवान भी शहीद

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: