Crime NewsJharkhandPalamu

फौज में इस्तेमाल होने वाली इंसास राइफल की गोली बेचते दो लोग गिरफ्तार

Palamu : पलामू जिला मुख्यालय मेदिनीनगर में पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है. पुलिस ने सिविलियन के लिए प्रतिबंधित इंसास रायफल की मैगजीन और 20 राउंड गोली के साथ दो युवकों  को गिरफ्तार किया है. ये दोनों रिश्ते में मामा और भांजा लगते हैं. दोनों वाट्सऐप माध्यम से कारतूस और मैगजीन बेचने की तैयारी में थे.

इससे पहले ही पुलिस ने उन्हें गिरफ्त में ले लिया. पकड़े गए युवकों ने बताया कि उसे लेस्लीगंज के गुड्डू ने कारतूस बेचने के लिए दिया था. इस मामले में नक्सली कनेक्शन है या कहीं से गोली की चोरी की गई इसे लेकर पुलिस जांच कर रही है.

एक युवक जिसका नाम हसन अंसारी है वो रामगढ़ थानाक्षेत्र के बेड़मा-बभंडी का रहने वाला है. जबकि जिलानी अंसारी सदर थानाक्षेत्र के टेलियाबांध का रहने वाला है. मेदिनीनगर शहर थाना प्रभारी इंस्पेक्टर अरूण कुमार माहथा ने बताया कि गुप्त सूचना मिली थी कि डालटनगंज स्टेशन रोड में दो युवक इंसास की गोली के साथ हैं.

इसे बेचा जाना था. सूचना पर एसपी संजीव कुमार ने तत्काल कार्रवाई के लिए टीम बनाई. थाना प्रभारी इंस्पेक्टर अरुण महथा के नेतृत्व में टीओपी टू प्रभारी रामजीत सिंह की टीम ने दोनों को पकड़ा. तलाशी के क्रम में उनके पास से इंसास की 5.56 बोर की 20 गोली और मैगजीन मिली. एक अपाची बाइक (जेएच03डी 2216) भी पुलिस ने जब्त की है.

 

वाट्सऐप के जरिये गोली बेचने की थी तैयारी

इंस्पेक्टर अरूण कुमार माहथा ने बताया कि इंसास आम लोगों के लिए प्रतिबंधित हथियार है. इंसास रायफल का उपयोग पुलिस और फौज में होता है, लेकिन इसकी गोली को वाट्सऐप के जरिए बेचा जा रहा था. गोली बेचने के लिए इन्होंने व्हाट्सअप का प्रयोग किया. कई लोगों को गोली की तस्वीर भेजकर खरीदने के लिए पूछा गया.

इंस्पेक्टर ने कहा कि बेचने के लिए गोली देने वाले लेस्लीगंज के गुड्डू की पहचान और उसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस प्रयास कर रही है. इंसास रायफल की गोली उसके पास कहां से आई, इस पूरे नेटवर्क का पता लगाने की कोशिश में पुलिस जुटी है.

 

इसे भी पढें : INS Virat को तोड़ने के मामले सुप्रीम कोर्ट ने कहा, जहाज 40% तोड़ा जा चुका है, हम नहीं देंगे दखल

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: