Crime NewsJharkhandRanchi

PLFI के दो नक्सलियों की जोड़ी बनी पुलिस के लिए चुनौती, लाखों का इनाम घोषित

Ranchi: पीएलएफआइ के दो नक्सलियों की चर्चित जोड़ी को मार गिराना या गिरफ्तार करना पुलिस के लिए चुनौती है. इसमें एक है पीएलएफआइ का सुप्रीमो दिनेश गोप और दूसरा पीएलएफआइ का जोनल कमांडर जिदन गुड़िया है. झारखंड सरकार ने सुप्रीमो दिनेश गोप के ऊपर 25 लाख और जिदन गुड़िया के ऊपर 15 लाख का इनाम का घोषित कर रखा है.

पुलिस को लंबे समय से जिदन गुड़िया की तलाश है. और कई बार सर्च अभियान भी चलाया गया, लेकिन इसके बावजूद भी जिदन गुड़िया पकड़ से बाहर है. वहीं पीएलएफआइ का सुप्रीमो दिनेश गोप भी पुलिस के लिये लगातार चुनौती बना हुआ है. उसकी एक तस्वीर तक पुलिस के पास नहीं है. बता दें कि टेरर फंडिंग के मामले में एनआइए ने दिनेश गोप को स्थाई तौर पर फरार घोषित किया है.

advt

इसे भी पढ़ें- नौकरियां जाने की समस्याएं नहीं सुलझीं तो लोग PM का मांग सकते हैं इस्तीफा: राउत

कई बार हुए मुठभेड़ में बच निकले हैं दोनों उग्रवादी

पीएलएफआइ का सुप्रीमो दिनेश गोप और पीएलएफआइ जोनल कमांडर जिदन गुड़िया कई बार मुठभेड़ में बच कर निकलने में सफल रहा है. पीएलएफआइ उग्रवादी संगठन का दबदबा कम होता जा रहा है. एक के बाद एक हार्डकोर उग्रवादी गिरफ्तार होते जा रहे है. एक-एक कर पीएलएफआइ उग्रवादी संगठन का एरिया साफ होने लगा है.

इसके बाबजूद भी पुलिस दिनेश गोप और जिदन गुड़िया को गिरफ्तार करने में कामयाब नही पायी है. हाल के महीने में देखा जाए तो गया, रांची के ग्रामीण इलाकों, गुमला, लोहरदगा, सिमडेगा, खूंटी, हजारीबाग और चाईबासा में पीएलएफआइ उग्रवादी संगठन की सक्रियता में कमी आयी है.

इसे भी पढ़ें- CoronaUpdate: झारखंड में 2 और मरीजों ने तोड़ा दम, मरने वालों की संख्या हुई 118

लेवी के लिए देते हैं घटनाओं का अंजाम

पीएलएफआइ उग्रवादी संगठन लेवी के लिए वाहनों में आगजनी और फायरिंग जैसी घटनाओं को अंजाम देते हैं. संगठन के बड़े उग्रवादी लेवी के पैसे से संगठन को मजबूत करने के साथ-साथ खुद की भी संपत्ति बढ़ा रहे हैं. लेवी नहीं मिलने पर विकास कार्य भी रुकवा देते हैं और आगजनी जैसी घटनाओं को अंजाम देते हैं. इसके अलावा पीएलएफआइ उग्रवादी संगठन लेवी के साथ-साथ हत्या की भी सुपारी लेते हैं.

इसे भी पढ़ें- देश में घातक रूप लेता Corona: 24 घंटे में करीब 55 हजार नये केस, कुल आंकड़ा 17.5 लाख के पार

दिनेश गोप को NIA ने स्थाई तौर पर फरार घोषित किया है

पीएलएफआइ का सुप्रीमो दिनेश गोप पुलिस के लिये लगातार चुनौती बना हुआ है. उसकी एक तस्वीर तक पुलिस के पास नहीं है. गौरतलब है कि टेरर फंडिंग के मामले में एनआइए ने दिनेश गोप को स्थाई तौर पर फरार घोषित किया है.

इसके बावजूद भी दिनेश गोप खूंटी, गुमला और सिमडेगा क्षेत्र में सक्रिय है और लेवी वसूलने का काम कर रहा है. पीएलएफआइ को टेरर फंडिंग करने के मामले में एनआइए ने दिनेश गोप की पत्नी समेत कई लोगों को गिरफ्तार किया है और जेल भी भेजा है. लेकिन एनआइए अबतक दिनेश गोप तक पहुंचने में सफल नहीं पाई है.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: