Crime NewsJharkhandRanchi

PLFI के दो नक्सलियों की जोड़ी बनी पुलिस के लिए चुनौती, लाखों का इनाम घोषित

विज्ञापन
Advertisement

Ranchi: पीएलएफआइ के दो नक्सलियों की चर्चित जोड़ी को मार गिराना या गिरफ्तार करना पुलिस के लिए चुनौती है. इसमें एक है पीएलएफआइ का सुप्रीमो दिनेश गोप और दूसरा पीएलएफआइ का जोनल कमांडर जिदन गुड़िया है. झारखंड सरकार ने सुप्रीमो दिनेश गोप के ऊपर 25 लाख और जिदन गुड़िया के ऊपर 15 लाख का इनाम का घोषित कर रखा है.

पुलिस को लंबे समय से जिदन गुड़िया की तलाश है. और कई बार सर्च अभियान भी चलाया गया, लेकिन इसके बावजूद भी जिदन गुड़िया पकड़ से बाहर है. वहीं पीएलएफआइ का सुप्रीमो दिनेश गोप भी पुलिस के लिये लगातार चुनौती बना हुआ है. उसकी एक तस्वीर तक पुलिस के पास नहीं है. बता दें कि टेरर फंडिंग के मामले में एनआइए ने दिनेश गोप को स्थाई तौर पर फरार घोषित किया है.

इसे भी पढ़ें- नौकरियां जाने की समस्याएं नहीं सुलझीं तो लोग PM का मांग सकते हैं इस्तीफा: राउत

advt

कई बार हुए मुठभेड़ में बच निकले हैं दोनों उग्रवादी

पीएलएफआइ का सुप्रीमो दिनेश गोप और पीएलएफआइ जोनल कमांडर जिदन गुड़िया कई बार मुठभेड़ में बच कर निकलने में सफल रहा है. पीएलएफआइ उग्रवादी संगठन का दबदबा कम होता जा रहा है. एक के बाद एक हार्डकोर उग्रवादी गिरफ्तार होते जा रहे है. एक-एक कर पीएलएफआइ उग्रवादी संगठन का एरिया साफ होने लगा है.

इसके बाबजूद भी पुलिस दिनेश गोप और जिदन गुड़िया को गिरफ्तार करने में कामयाब नही पायी है. हाल के महीने में देखा जाए तो गया, रांची के ग्रामीण इलाकों, गुमला, लोहरदगा, सिमडेगा, खूंटी, हजारीबाग और चाईबासा में पीएलएफआइ उग्रवादी संगठन की सक्रियता में कमी आयी है.

इसे भी पढ़ें- CoronaUpdate: झारखंड में 2 और मरीजों ने तोड़ा दम, मरने वालों की संख्या हुई 118

लेवी के लिए देते हैं घटनाओं का अंजाम

पीएलएफआइ उग्रवादी संगठन लेवी के लिए वाहनों में आगजनी और फायरिंग जैसी घटनाओं को अंजाम देते हैं. संगठन के बड़े उग्रवादी लेवी के पैसे से संगठन को मजबूत करने के साथ-साथ खुद की भी संपत्ति बढ़ा रहे हैं. लेवी नहीं मिलने पर विकास कार्य भी रुकवा देते हैं और आगजनी जैसी घटनाओं को अंजाम देते हैं. इसके अलावा पीएलएफआइ उग्रवादी संगठन लेवी के साथ-साथ हत्या की भी सुपारी लेते हैं.

इसे भी पढ़ें- देश में घातक रूप लेता Corona: 24 घंटे में करीब 55 हजार नये केस, कुल आंकड़ा 17.5 लाख के पार

दिनेश गोप को NIA ने स्थाई तौर पर फरार घोषित किया है

पीएलएफआइ का सुप्रीमो दिनेश गोप पुलिस के लिये लगातार चुनौती बना हुआ है. उसकी एक तस्वीर तक पुलिस के पास नहीं है. गौरतलब है कि टेरर फंडिंग के मामले में एनआइए ने दिनेश गोप को स्थाई तौर पर फरार घोषित किया है.

इसके बावजूद भी दिनेश गोप खूंटी, गुमला और सिमडेगा क्षेत्र में सक्रिय है और लेवी वसूलने का काम कर रहा है. पीएलएफआइ को टेरर फंडिंग करने के मामले में एनआइए ने दिनेश गोप की पत्नी समेत कई लोगों को गिरफ्तार किया है और जेल भी भेजा है. लेकिन एनआइए अबतक दिनेश गोप तक पहुंचने में सफल नहीं पाई है.

advt
Advertisement

9 Comments

  1. Everyone loves what you guys tend to be up too. This type of
    clever work and exposure! Keep up the awesome works guys I’ve included you
    guys to my blogroll.

  2. Hey superb website! Does running a blog such as this take a lot of work?
    I’ve very little expertise in coding but I had been hoping to start my own blog soon. Anyways, should you have any suggestions or techniques for
    new blog owners please share. I understand this is
    off subject however I just wanted to ask. Many thanks!

    adreamoftrains best website hosting

  3. Greetings! I know this is kinda off topic but I’d figured I’d ask.
    Would you be interested in exchanging links or maybe guest authoring a blog post or vice-versa?
    My website goes over a lot of the same subjects as yours and I believe
    we could greatly benefit from each other. If you are interested feel free to
    send me an e-mail. I look forward to hearing from you!
    Awesome blog by the way!

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close
%d bloggers like this: