न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

टीएमसी के दो और सीपीएम का एक विधायक भाजपा में शामिल, कई पार्षदों ने भी ली सदस्यता

306

New Delhi/Kolkata: लोकसभा में लगे तगड़े झटके बाद तृणमूल कांग्रेस को फिर से एक झटका लगा है. तृणमूल के 2 विधायक और कई पार्षद भाजपा में शामिल हो गये हैं. वहीं माकपा के भी एक विधायक ने भाजपा की सदस्यता ली है. पश्चिम बंगाल में राजनीतिक हिंसा और बीजेपी व टीएमसी के बीच तनाव अब भी जारी है. इस खबर के बाद दोनों दलों में तनाव और भड़कने की आशंका है. ममता बनर्जी के काफी करीबी रहे मुकुल रॉय के नेतृत्व में बीजेपी टीएमसी के नेताओं को लगातार अपने पाले में खड़ा करने की कोशिश कर रही है. उसी कड़ी में मंगलवार के नयी दिल्ली में विधायकों और पार्षदों ने भाजपा की सदस्यता ली.

eidbanner

इसे भी पढ़ें – झारखंड पर 85234 करोड़ कर्जः 14 साल की सरकारों ने लिये 37593.36 करोड़, रघुवर सरकार ने 5 साल में ही ले लिया 47640.14 करोड़ का ऋण

मुकुल रॉय के बेटे भी भाजपा में शामिल

जो तीन विधायक भाजपा में शामिल हुए हैं उनमें मुकुल रॉय के बेटे शुभ्रांशु रॉय का भी नाम शामिल है. तीनों विधायकों ने दिल्ली में भाजपा की सदस्यता ग्रहण की. शुभ्रांशु के अलावा नोआपारा से विधायक सुनील सिंह और बैरकपुर के विधायक शीलभद्र दत्ता के भी मुकुल रॉय के साथ दिल्ली पहुंचे. मुकुल रॉय 2017 में बीजेपी में शामिल हुए थे. मुकुल रॉय के बेटे शुभ्रांशु को टीएमसी पार्टी विरोधी गतिविधियों के आरोप में पहले ही सस्पेंड कर चुकी है.

इसे भी पढ़ें – अलर्ट के बावजूद नक्सलियों ने दिखायी अपनी धमक, एक सप्ताह में दिया दूसरी बड़ी घटना को अंजाम

Related Posts

डॉक्टरों की हड़ताल समाप्त होने के आसार,  सीएम ममता का हर अस्पताल में पुलिस अधिकारी तैनात करने का आदेश 

डॉक्टरों की हड़ताल समाप्त होने के आसार हैं. पश्चिम बंगाल में हिंसा के विरोध में हड़ताल पर गये चिकित्सकों और राज्य सरकार के बीच गतिरोध खत्म होने के संकेत नजर आ रहे हैं.

कई पार्षदों ने भी थामा भाजपा का दामन

तीनों विधायकों के अलावा तृणमूल कांग्रेस के कई पार्षदों ने भी बीजेपी का दामन थाम लिया है. जो तीन विधायक भाजपा में शामिल हुए हैं वे सभी बैरकपुर लोकसभा सीट के तहत आनेवाले विधानसभा क्षेत्रों का प्रतिनिधित्व करते हैं. बैरकपुर में बीजेपी के अर्जुन सिंह ने टीएमसी के कद्दावर नेता और दो बार सांसद रहे दिनेश त्रिवेदी को शिकस्त दी है. बिजपुर से विधायक सुनील सिंह अर्जुन सिंह के रिश्तेदार हैं.

इसे भी पढ़ें – बहुचर्चित अलकतरा घोटाले में दोषी ठहराये गये तीनों इंजीनियरों को तीन साल की सजा

इसे भी पढ़ें – जंतर मंतर के पास कथित तौर पर धर्म पूछकर डॉक्टर से जय श्री राम के नारे लगवाये गये

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: