Crime NewsPakur

पाकुड़ में कस्तूरबा आवासीय विद्यालय से संदेहास्पद स्थिति में दो नाबालिग छात्राएं हुई लापता 

Pakur:  जिले के हिरणपुर थाना क्षेत्र के घाघरजानी स्थित कस्तूरबा आवासीय विद्यालय की दसवीं कक्षा की दो नाबालिग छात्राएं शनिवार की अहले सुबह से लापता हैं. मामले को लेकर थाना में लिखित शिकायत दर्ज कराई गई है. शिकायत थाना में दर्ज होने के बाद पुलिस मामले की छानबीन में जुट गई है.हालांकि अब तक दोनों लापता छात्राओं का कोई सुराग नहीं मिल पाया है. इस संबंध में दोनों छात्राओं के परिजनों को भी उनके लापता होने की जानकारी दे दी गई है. मामले की जानकारी मिलते ही जिला शिक्षा अधीक्षक मुकुल राज, एडीपीओ जयेंद्र मिश्र तथा बीईईओ रफीक आलम ने मौके पर पहुंच मामले की विस्तृत जानकारी ली.

इसे भी पढ़ें: लालू ने फिर भरा दम,कहा- 2024 में BJP का सफाया तय

वार्डन की अनुपस्थिति में हुई घटना

जिला शिक्षा अधीक्षक मुकुल राज ने इस मामले में बताया कि विद्यालय की वार्डेन नवरातन नूर शुक्रवार को अवकाश पर थीं. उनकी अनुपस्थिति में वार्डन के प्रभार में शिक्षिका तालामय किस्कू थीं. डीएसई ने प्रभारी शिक्षिका, वार्डेन तथा गार्ड गंगाधर रक्षित से मिली जानकारी के हवाले से बताया कि शुक्रवार की शाम में निर्धारित समय पर विद्यालय के सभी प्रमुख दरवाजों पर ताला लगा कर रोज की तरह गार्ड ने कार्यालय कक्ष से सटे अपने आवास के आगे चाबी रख दिया था. अन्य दिनों की तरह प्रभारी शिक्षिका तालामय किस्कू सुबह चार बजे मेन गेट का ताला खोलने गईं तो गेट को खुला पाया. जब इस संबंध में स्कूल की अन्य छात्राओं से पूछताछ भी की गई लेकिन दोनों छात्राओं का कोई सुराग नहीं मिल पाया.उसके बाद इसकी जानकारी दोनों छात्राओं के घर वालों को देने के साथ ही वार्डेन नवरातन नूर ने हिरणपुर थाना में मामला दर्ज कराया. उन्होंने छात्राओं के लापता होने की सबसे बड़ी वजह वहां कार्यरत गार्ड की लापरवाही बताया है. साथ ही बताया जा रहा है कि घटना को लेकर जब स्कूल में लगे सीसीटीवी कैमरों से फुटेज खंगालने की कोशिश की गई तो संभवतः इन कैमरों के साथ की गई छेड़छाड़ के कारण कोई सुराग नहीं मिल पाया है. इस घटना को लेकर शिक्षा विभाग में हड़कंप मचा हुआ है.

Related Articles

Back to top button