न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पश्चिम बंगाल के संतरागाछी रेलवे स्टेशन पर भगदड़ मचने से दो की मौत, 17 घायल

152

Kolkata : मंगलवार की शाम संतरागाछी रेलवे स्टेशन पर भगदड़ मच गयी, जिससे दो लोगों की मौत हो गयी, जबकि 17 लोगों के बुरी तरह से घायल हो जाने की सूचना है. बताया जा रहा है कि पश्चिम बंगाल के हावड़ा से 10 किलोमीटर दूर स्थित संतरागाछी रेलवे स्टेशन के एक फुट ओवरब्रिज पर मंगलवार की शाम करीब छह बजे ज्यादा भीड़ हो गयी, जिससे वहां भगदड़ मच गयी और दो लोगों को इसमें अपनी जान गंवानी पड़ गयी.

इसे भी पढ़ें- गढ़वा : स्वर्ण जयंती एक्सप्रेस की टूटी बोगी, बड़ा हादसा टला

Aqua Spa Salon 5/02/2020

एक साथ कई ट्रेनों के आने से ओवरब्रिज पर बढ़ गयी थी भीड़

Related Posts

#Delhi_CM केजरीवाल ने अमित शाह से हुई मुलाकात को सार्थक बताया, ट्वीट कर दी जानकारी

शपथ ग्रहण समारोह के दौरान केजरीवाल ने दिल्ली के विकास के लिए केंद्र की तरफ भी सहयोग का हाथ बढ़ाते हुए कहा था कि मैंने आज के समारोह के लिए प्रधानमंत्री को भी आमंत्रित किया था, लेकिन वह व्यस्त होने की वजह से नहीं आ सके.

बताया जा रहा है कि इस स्टेशन पर मंगलवार की शाम एक साथ कई ट्रेनों के आने से फुट ओवरब्रिज पर अचानक भीड़ बहुत ज्यादा बढ़ गयी. भीड़ इतनी ज्यादा थी कि घबराहट में लोग इधर-उधर भागने लगे, जिससे भगदड़ मच गयी. हादसे में घायल हुए लोगों को हावड़ा जेनरल हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है. दक्षिण पूर्व रेलवे के प्रवक्ता संजय घोष के मुताबिक, दो ईएमयू लोकल ट्रेनों और ‘नागरकोइल-शालीमार एक्सप्रेस स्टेशन पर एक साथ आ गयी थीं. इनके बाद थोड़ी ही देर में शालीमार-विशाखापत्तनम एक्सप्रेस और संतरागाछी-चेन्नई एक्सप्रेस भी आनेवाली थीं. इसे लेकर प्लैटफॉर्म नंबर दो और तीन के बीच बने फुट ओवरब्रिज पर भीड़ बढ़ गयी. देखते ही देखते यहां भगदड़ मच गयी.

इसे भी पढ़ें- सीबीआई रिश्वत मामला: कस्टडी में CBI डीएसपी, स्पेशल डायरेक्टर को मिली अंतरिम राहत

रेलवे की तरफ से अनदेखी हुई है, जांच होनी चाहिए : ममता बनर्जी

इधर, दुर्घटना की सूचना मिलने के बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी तुरंत घटनास्थल पर पहुंचीं. उन्होंने मृतकों के परिजनों को पांच-पांच लाख रुपये और घायलों को एक-एक लाख रुपये का मुआवजा देने की घोषणा की. उन्होंने कहा, ‘रेलवे देश की मुख्य लाइफ लाइन है. रेलवे को चाहिए कि वह यात्रियों का ध्यान रखे. मैं रेलवे पर दोष नहीं मढ़ सकती हूं. मामले की जांच होनी चाहिए. मुझे लगता है कि रेलवे की तरफ से अनदेखी तो हुई है.’

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like