DhanbadJharkhandMain Slider

#CM की सभा में भीड़ जुटाने के लिए बांटे गये दो-दो सौ रुपये, वीडियो वायरल

विज्ञापन

Dhanbad : झारखंड के सीएम रघुवर दास की सभा में भीड़ जुटाने के लिए जमकर रुपये भी बांटे गये. एक व्यक्ति को कार्यक्रम में शामिल होने के लिए दो सौ रुपये दिये गये. झारखंड भाजपा  के लोगों ने रुपये बांटे.  रुपये बांटने का वीडियो वायरल हो गया है.

बताया जाता है कि भाजपा ने सीएम की जोहार जन आशीर्वाद रैली  को सफल बनाने के लिए धनबाद में लाखों रुपये बांटे हैं. भाजपा की ओर से रुपये बांटने का एक वीडियो बुधवार देर रात से ही सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

advt

रुपये बांटने का यह वीडियो सिंदरी विधानसभा  क्षेत्र का है.  लेकिन सूत्र बताते हैं कि गोविंदपुर की सभा को सफल बनाने के लिए भी भाजपा ने दो सौ के हिसाब से रुपये बांटे हैं.

इसे भी पढ़ें : सीएम के गृह जिले में हो रहा #PMAwasYojna की जमीन पर कब्जा, अतिक्रमण के कारण ढाई हजार की जगह अब बनेंगे कवेल 1100 मकान

सीएम के आने में हुआ विलंब तो जताया विरोध

समाचार संकलन के दौरान गोविंदपुर में न्यूजविंग  को कुछ लोगों से यह जानकारी मिली कि उन्हें सीएम की रैली में शामिल होने के लिए दो सौ रुपये दिये गये. यही कारण है कि जब कार्यक्रम में  सीएम के आने में विलंब हुआ. और लोग भूख-प्यास से व्याकुल होने लगे, तब पैसे देकर बुलाये गये लोगों ने यह कहना शुरु कर दिया कि 200 रुपये में हम अपनी जान नहीं दे देंगे. यह कह कर लोग सभा स्थल से जाने लगे.

कुछ जगहों पर स्थिति यह हो गयी कि सीएम की सभा में मौजूद लोगों जितनी कुर्सियां भरी हुई थी, उससे अधिक खाली कुर्सियां नजर आने लगी.

adv

इसे भी पढ़ें : जानें झारखंड के कितने विधायक हैं दागी, IPC की कौन सी धारा के तहत चल रहा है माननीयों पर केस

सभी पंचायतों से बुलायी गयीं सहिया, 73 स्कूल बसों की भी ली गयी मदद

सीएम के कार्यक्रम को लेकर जिले की सभी पंचायतों से सहियाओं को भी बुलाया गया था. बताया जा रहा है कि उन्हें कार्यक्रम में शामिल होने के लिए सख्त निर्देश दिया गया था.

गोविंदपुर में सुबह 9.00 बजे से ही विभिन्न पंचायतों की सहियाओं को बुला लिया गया था. लेकिन सीएम के आने में हुए विलंब के कारण वे भी भूख-प्यास से व्याकुल होने लगी और उन्होंने कार्यक्रम स्थल पर इसका विरोध भी किया.

इसके साथ ही सीएम की सभा को सफल बनाने के लिए जिले के सात निजी स्कूलों को बंद कर दिया गया था. जिन स्कूलों को बंद किया गया था, उनमें राजकमल पब्लिक स्कूल, डीएवी पब्लिक स्कूल, सरस्वती विद्या मंदिर, दिल्ली पब्लिक स्कूल आदि हैं.

इन स्कूलों के वाहन को सहिया व अन्य लोगों के ढोने के काम में लगाया गया था. विभिन्न स्कूलों की 73 बसें सीएम के कार्यक्रम में लगी हुई थीं.

इसे भी पढ़ें : Ranchi : राज्यपाल के आदेश के बाद भी अनुबंध पर कार्यरत 1000 असिस्टेंट प्रोफेसर का मानदेय नहीं हुआ तय

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button