BokaroJharkhand

झारखंड की इस पंचायत में काम कर रहे दो-दो मुखिया!

  • 14वें और 15वें वित्त के पैसे को खर्च करने में आ रही बाधा
  • वर्तमान मुखिया ने निवर्तमान मुखिया के खिलाफ सरकार से की शिकायत

Ranchi: बोकारो के पेटरवार प्रखंड की सदमाकला पंचायत में मुखिया पद को लेकर उहापोह की स्थिति दिख रही है. वर्तमान मुखिया सावित्री देवी ने पिछले साल निलंबित मुखिया पंकज सिन्हा के खिलाफ डीसी और पेटरवार बीडीओ के अलावे विधायक लंबोदर महतो से भी शिकायत की है.

उन्हें लिखे लेटर में कहा है कि पूर्व मुखिया अब भी नाजायज तरीके के ग्रामीणों, पंचायत सेवक एवं रोजगार के बीच खूद को बतौर मुखिया होने की धौंस दिखा रहे हैं. साथ ही पत्रकार होने का रूतबा भी जता रहे हैं. सरकार इस पर एक्शन ले.

advt

इसे भी पढ़ें :जानिए, कितनी महंगी हो गयी है ‘दो जून’ की रोटी

क्या है मामला

सावित्री देवी के अनुसार पंकज सिन्हा एक साल पूर्व भ्रष्टाचार के आरोप में उच्च न्यायालय के आदेश पर निलंबित किये जा चुके हैं. अक्टूबर 2020 में उनके निलंबन के बाद से उपमुखिया होने के नाते बतौर मुखिया उन्हें दायित्व सौंपा गया है.

फिलहाल कार्यकारी समिति की प्रधान के रुप में वे दायित्वों का निर्वाहन कर रही हैं. पर निलंबित मुखिया पंकज सिन्हा द्वारा अब भी पंचायत तथा प्रखंड कर्मियों के बीच खुद को मुखिया के तौर पर दिखाकर दिग्भ्रमित किया जा रहा है.

स्थानीय समाचार पत्रों में भी पंकज सिन्हा खुद को मुखिया के रूप में दर्शाया जाता है. ऐसी स्थिति में पंचायत में 14वें और 15वें वित्त की राशि का पैसा मूलभूत कार्यों में खर्च करने में बाधा आ रही है.

इसे भी पढ़ें :झारखंड में नहीं रुकेगा टीकाकरण, कोविशील्ड के 2.10 लाख डोज की खेप रांची पहुंची

कौन कौन हैं सांसद प्रतिनिधि

सांसद सीपी चौधरी ने बोकारो डीसी को जून, 2020 में सूचना दी थी कि गिरिडीह के अंतर्गत बोकारो जिला के पेटरवार में प्रखंड स्तरीय समीक्षा बैठकों, कार्यक्रमों में और अन्य कार्यक्रमों में समन्वय स्थापित करने को उनकी अनुपस्थिति में 9 लोगों को अधिकृत किया गया है.

इनमें संजय कुमार गुप्ता (पेटरवार, प्रखंड कार्यालय), मिथिलेश महतो (सरैयाटांड़, अंचल कार्यालय), रवि जायसवाल (पेटरवार, बाल विकास परियोजना कार्यालय), नरेश महतो (सदमाकला, प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी कार्यालय), असित कुमार बनर्जी (पेटरवार, वन एवं क्षेत्र पदाधिकारी कार्यालय), अनिल कुमार स्वर्णकार (पेटरवार, प्रखंड आपूर्ति पदा कार्यालय), चंदन सिन्हा (पेटरवार, विद्युत कार्यालय), ओम प्रकाश सहगल (पेटरवार, थाना पेटरवार) और मुन्ना श्रीवास्तव (तेनुघाट, थाना- तेनुघाट ओपी) शामिल हैं.

इसे भी पढ़ें :पुलिसवालों पर बढ़ी सख्ती, अब ड्यूटी के दौरान मोबाइल फोन इस्तेमाल किया तो होगी कार्रवाई

क्या कहते हैं बीडीओ

पेटरवार बीडीओ एस के चौरसिया के मुताबिक पंकज सिन्हा बतौर सांसद प्रतिनिधि और पत्रकार ही अभी क्षेत्र में सक्रिय हैं. वे पूर्व में मुखिया थे पर उनके पास फिलहाल वित्तीय पावर नहीं है.

ऐसे में वे पंचायतों से जुड़े किसी वित्तीय मसले के लिये अधिकृत नहीं हैं. मुखिया के तौर पर किसी सरकारी कार्यक्रम में भाग नहीं लेते. ग्रामीण विकास संबंधी मसले पर जनप्रतिनिधि के सदस्य के तौर पर सक्रिय रहते हैं.

इसे भी पढ़ें :अनलॉक शुरू हुआ तो पटना में उमड़ पड़ी भीड़

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: