JharkhandLead NewsPalamu

मेदिनीनगर में मिलावटी सरसों तेल और चावल बेचने के आरोप में दो किराना दुकान सील

  • पैक्ड चावल की बोरी खोलकर उसमें चाइनीज चावल मिलाकर ग्राहकों को बेचने का आरोप
  • सरसों तेल सहित अन्य खाद्य सामग्रियों में भी मिलावट कर बेचने की मिली थी प्रशासन को शिकायत
  • सदर एसडीओ ने की छापामारी, कथित मिलावटी खाद्य सामग्री जब्त, दुकान सहित गोदाम को भी किया सील

Palamu : मेदिनीनगर में खाद्य सामग्रियों में मिलावटखोरी के खिलाफ मंगलवार की देर शाम बड़ी कार्रवाई की गयी है. मुख्य बाजार में संचालित दो किराना स्टोर और उसके गोदाम को सील कर दिया गया. मौके से मिलावट की गयी खाद्य सामग्रियों को जब्त कर लिया गया है. गोदाम से बोरों को सीनेवाली मशीन भी जब्त की गयी. इस कार्रवाई से मिलावट का धंधा करनेवालों में हड़कंप मच गया है.

Jharkhand Rai

मेदिनीनगर शहर थाना क्षेत्र के मुख्य सब्जी बाजार स्थित रतन और महेंद्र किराना में मंगलवार की शाम सदर एसडीओ अजय सिंह बड़ाइक ने छापामारी की. इस बीच सरसों तेल, चावल सहित अन्य खाद्य सामग्रियों में मिलावट किये जाने का मामला प्रकाश में आया. दोनों दुकानों को तत्काल सील कर दिया गया है. बाद में दोनों दुकानों के सिद्दीक चौक स्थित गोदाम में भी छापामारी की गयी, जहां से चावल का बोरा पैक करनेवाली मशीन जब्त की गयी.

इसे भी पढ़ें- राज्य में शादी का झांसा देकर यौन शोषण और घरेलू हिंसा में रांची अव्वल

चावल के पैकेट में चाइनीज चावल की मिलावट की भी मिली थी शिकायत

एसडीओ अजय सिंह बड़ाइक ने बताया कि जनता ने शिकायत की थी कि किराना दुकानों में मिलावटी सरसों तेल और चावल की बिक्री हो रही है. चावल के पैकेट को खोलकर उसमें चाइनीज चावल की मिलावट करते हुए पुनः पैकिंग की जाती है. इसी आधार पर छापामारी की गयी और सब्जी बाजार स्थित रतन किराना और महेंद्र किराना को सील कर दिया गया है. रतन कुमार अग्रवाल का सिद्दीक मंजिल चौक के समीप गोदाम भी है.

Samford

इसे भी पढ़ें- Koderma : बिहार चुनाव को लेकर बढ़ायी गयी चौकसी, सभी वाहनों की हो रही जांच

ग्राहकों को मिलावटी चावल बेच रहे थे दुकानदार : एसडीओ

छापामारी के दौरान पाया गया कि लक्की भोग नामक चावल की 20 खुली बोरी की पैकिंग हो रही थी. शाही डिनर नामक चावल आठ बोरा पैक था और छह बोरा खुला पड़ा था. पंचकन्या नामक चावल सात बोरा पैक था. एसडीओ ने बताया कि पैक्ड चावल के बोरे को खोलकर उसमें चाइनीज चावल की मिलावट की जाती थी. इसके बाद पुनः उसे पैक करने के बाद बाजार में ग्राहकों से बेच दिया जाता था. एसडीओ सरसों तेल और चावल का नमूना साथ लेकर गये हैं.

इसे भी पढ़ें- विपक्ष के नेता के बगैर राज्य में सूचना आयुक्तों की नियुक्ति असंभव, खेला जा रहा कागजी दांव पेंच

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: