Crime NewsLead NewsPalamu

दो दिन बाद अपने मां-बाप की हत्या की गवाही देनेवाला था बेटा, उसकी भी कर दी गयी हत्या

  • घर में सोया हुआ था कृष्णा, किसी ने काट दिया कुल्हाड़ी से
  • 15 साल पहले डायन-ओझा के आरोप में मां-बाप की कर दी गयी थी हत्या

Palamu : जिले के छतरपुर थाना क्षेत्र के पिंडराही के बजना टोला निवासी कृष्णा सिंह (38) की कुल्हाड़ी से मारकर हत्या कर दी गयी. कृष्णा सिंह के माता-पिता रत्नी देवी और मुनेश्वर सिंह की भी 15 वर्ष पूर्व हत्या कर दी गयी थी. इस हत्याकांड में कृष्णा सिंह गवाह थे. दो-तीन दिन बाद इस मामले में उसकी गवाही होनेवाली थी. इससे पहले ही उसकी हत्या हो गयी.

Advt

बताया जा रहा है कि अपने घर से कुछ दूर खेत और तालाब की रखवाली के लिए कृष्णा सिंह रात में अपने खेत में सो रहा था. सोमवार को जब लोग खेत में पहुंचे, तो युवक की लाश देखकर इसकी सूचना पुलिस को दी. हत्या की वजह अब तक पूरी तरह से स्पष्ट नहीं हो सकी है. गौरतलब है कि करीब 15 साल पहले युवक के माता-पिता की भी हत्या हुई थी. कुछ रिश्तेदारों ने डायन-ओझा का आरोप लगाकर दोनों की हत्या कर दी थी. कृष्णा की हत्या को पुलिस इस मामले से भी जोड़कर देख रही है.

इसे भी पढ़ें- Unlock 5: कंटेनमेंट जोन में 30 नवंबर तक जारी रहेगा लॉकडाउन

कृष्णा के मां-बाप की हत्या के आरोपी बाप-बेटे 10 साल से हैं जेल में

कृष्णा सिंह अपनी पत्नी और बच्चों के साथ गांव में रहता था. तालाब में कृष्णा सिंह मछली पालन कर रहा था. रात में सोते वक्त ही कुल्हाड़ी से काटकर उसकी हत्या कर दी गयी. घटनास्थल पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लिया और पोस्टमॉर्टम मेदिनीनगर पीएमसीएच में करवाया. पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है.

छतरपुर थाना प्रभारी उपेंद्र नारायण सिंह ने बताया कि शुरुआती छानबीन में कृष्णा सिंह की हत्या को उसके माता-पिता की हत्या से जोड़कर देखा जा रहा है. कृष्णा सिंह के माता-पिता की हत्या के आरोप में साधु सिंह और उसके बेटे परशु सिंह दोनों लगभग दस वर्ष से जेल में हैं. परशु सिंह को सजा हो गयी है. शक है कि साधु सिंह के छोटे बेटे बबन सिंह द्वारा कृष्णा सिंह की हत्या की गयी है, क्योंकि कृष्णा अपने माता-पिता की हत्या में गवाह था. आरोपी की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीम लगायी गयी है.

इसे भी पढ़ें- तालाब में मिला युवक का शव

Advt

Related Articles

Back to top button