Crime NewsDeogharJamtaraJharkhandLead NewsNEWSRanchiSahibganj

39 हजार लोगों का डाटा रखने वाले झारखंड के दो साईबर ठग रिटायर्ड अधिकारियों को बनाते थे निशाना, 31 लाख ठगी के आरोप में चढ़ें यूपी पुलिस के हत्थे

Ranchi: झारखंड के देवघर और साहेबगंज जिले से यूपी के मिर्जापुर जिले के साईबर टीम दो साईबर अपराधी को गिरफ्तार किया है. यूपी के मिर्ज़ापुर जिले के चुनार थाना क्षेत्र के जलालपुर निवासी रिटायर्ड एसआई के खाते से 31 लाख रुपये गायब करने के आरोप में साहेबगंज जिले के मनीष कुमार साह और देवघर जिले के संतोष कुमार मंडल को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार दोनों आरोपियों के पास से छः लाख रुपये औऱ 5 मोबाइल फोन बरामद किया गया है. इनके फोन से 39 हजार लोगों का डाटा बरामद हुआ है, इनमें रिटायर्ड आईएएस, आईपीएस अधिकारी, जज, सेना के रिटायर्ड अधिकारी का डेटा, जन्मतिथि, मोबाइल नंबर रखा था. आरोपी मनीष कुमार साह 5वीं पास है, जबकि संतोष कुमार मंडल 9वीं पास है.

इस गैंग के 4 फरार बताये जा रहे है. इस गिरोह के सदस्य जामताड़ा से भी जुड़े हुए है. बताया जा रहा है कि आरोपियों ने हजारो खातो से करीब 25 करोड़ रुपये गायब कर चुके है. साइबर सेल प्रभारी श्याम बहादुर यादव ने बताया कि आरोपी रिटायर्ड अधिकारियों का डाटा इक्कठा करने के बाद पेंशन बंद होने या जीवित प्रमाणपत्र के नाम पर फ़ोन करके एनी डेस्क, टीम विवर जैसे एप्प का प्रयोग करके नेट बैंकिंग के माध्यम से पैसा ट्रांसफर करते थे. ट्रांसफर रुपये दूसरे खाते में भेजकर एटीएम से निकाल लेते थे. आरोपी लगातार ठिकाना बदल-बदलकर घटना को अंजाम देता था. इस गिरोह द्वारा चार साल से घटना को अंजाम दिया जा रहा है.

क्या है पूरा मामला

यूपी के मिर्जापुर जिले के चुनार थाना क्षेत्र स्थित जलालपुर निवासी रिटायर्ड एसआई पुरनराम को 11 अगस्त को ट्रेजरी ऑफिस के कर्मचारी के नाम पर अज्ञात नंबर से फोन किया गया. पेंशन बंद करने की बात कहते हुए कुछ जरूरी जानकारी मांगी गयी तो, रिटायर्ड एसआई ने बेटे को फ़ोन देकर डिटेल देने को कहा, डिटेल देने के नाम पर जरूरी जानकारी लेने के बाद एनी डेस्क एप्प डाउनलोड कराया गया, जिसके बाद 1900 पर काल कराकर यूपीसी कोड ले लिया. यूपीसी कोड के माध्यम से फ्रॉड 17 तारीख को नया सिम अलॉट करा लिया. आरोपी झारखण्ड से बंगाल पहुंचकर 17 अगस्त से 26 अगस्त के बीच मे 31 लाख 73 हजार रुपये नेट बैंकिंग के माध्यम से दूसरे खाता में ट्रांसफर कर लिया. 26 अगस्त को एसआई के बेटे को इस बात की जानकारी तब हुई जब बैंक पहुंचे. खाते से 31 लाख रुपये गायब होने की जानकारी मिलने पर साइबर थाने में शिकायत दर्ज कराई. शिकायत दर्ज कर पुलिस मामले की छानबीन में जुट गई. इसके बाद दोनो आरोपी को झारखंड से गिरफ्तार किया.

इसे भी पढ़ें : Jharkhand :16 उग्रवाद प्रभावित जिलों में खुलेगा नया आईटीआई, 496 पद सृजन की मंजूरी

Related Articles

Back to top button