ChatraJharkhandLead News

9.33 करोड़ की छात्रवृत्ति व साइकिल वितरण घोटाले में पूर्व डीडब्ल्यूओ सहित दो गिरफ्तार

Dharmendra Pathak

Chatra : विकास भवन में आगजनी व नौ करोड़ 33 लाख घोटाले के मामले में पुलिस ने पूर्व डीडब्लूओ आशुतोष कुमार व प्रयास एनजीओ के निदेशक अभय कुमार को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया. पूर्व डीडब्लूओ को देवघर व डायरेक्टर को गोड्डा से गिरफ्तार किया गया. सिमरिया एसडीपीओ अशोक कुमार प्रियदर्शी के नेतृत्व में छापेमारी कर दोनों को गिरफ्तार किया गया. दो नवंबर 2017 को विकास भवन में आग लगी थी. जिसमें कल्याण विभाग के सभी तरह के दस्तावेज जलकर नष्ट हो गया था. इस संबंध में 2018 में तत्कालिन उपायुक्त जितेंद्र कुमार सिंह ने मामले की जांच करायी. जांच में आग लगी नहीं लगायी गयी की पुष्टि होने पर दो डीडब्लूओ, नाजिर इंद्रदेव प्रसाद समेत 19 लोगो के खिलाफ मामला दर्ज कराया गया था. इस मामले में कई लोग गिरफ्तार किये गये हैं. नाजिर पर सरकारी राशि अपने परिजनो व एनजीओ के खाते में डालने का आरोप हैं.

advt

इसे भी पढ़ें : रामगढ़ डीसी माधवी मिश्रा ने देर रात शहर के विभिन्न क्षेत्रों का किया औचक निरीक्षण

गिरफ्तार अभय कुमार ने बताया कि वे प्रयास एनजीओ का डायरेक्टर हैं इसकी जानकारी उन्हें नहीं हैं. वर्ष 2008 में एनजीओ का सदस्य बनाया गया था. उस वक्त वे डालटेनगंज में मुरली प्रसाद के आवास पर रहते थे. एनजीओ का संचालन मुरली प्रसाद करते थे. बिना बताये उसे एनजीओ का डायरेक्टर बना दिया गया. इतना ही नहीं मेरा फर्जी हस्ताक्षर कर जमानत के लिए उच्च न्यायालय में अर्जी दायर किया. मैं पूरी तरह निर्दोष हूं. पूर्व डीडब्लूओं ने कहा कि नाजिर ने मेरा फर्जी हस्ताक्षर कर पैसा की निकासी किया. बैंक को खाता बंद करने के लिए घटना के दो माह पूर्व बंद करने के लिए पत्र लिखा था. इसके बाद पैसे की निकासी की गयी. थाना प्रभारी लव कुमार ने बताया कि कांड संख्या 165/18 के तहत उक्त लोगो को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया.

इसे भी पढ़ें : सोशल मीडिया में वायरल हुई झारखंड में 6 दिसंबर से 1 जनवरी तक लॉकडाउन की खबर, CM कार्यालय ने बताया Fake

Nayika

advt

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: