न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

आजसू और जेएमएम के बीच ट्विटर वार: जेएएमएम के खिलाफ आजसू आक्रमक

733

चौकीदार चंद्रप्रकाश चौधरी का ट्विट: जो गुरुजी का नहीं हुआ वो किसका होगा

महागठबंधन झारखंड अस्मिता का है सौदागर, गिरिडीह में टाइगर का जंगल राज होगा खत्म

Ranchi: चुनावी पारा चढ़ने के साथ ट्विटर वार भी चरम पर है. विरोधी दल का बयान आया और पलक झपकते आक्रमक तेवर के साथ ट्विट. खासकर आजसू ने झामुमो के खिलाफ ट्विटर पर आक्रमक रुख अख्त्यिार कर लिया है.

hosp3

वजह यह है कि गिरिडीह में झामुमो और आजसू के बीच नेक टू नेक फाइट है. इस सीट के साथ आजसू की प्रतिष्ठा भी दांव पर लगी हुई है.

इसे भी पढ़ेंः हजारीबाग से गोपाल साहू को कांग्रेस ने बनाया प्रत्याशी

आजसू उम्मीदवार चौकीदार चंद्रप्रकाश चौधरी ट्विटर पर खुद पैनी नजर रखे हुये हैं. आजसू के निशाने पर झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन और गिरिडीह लोकसभा से झामुमो उम्मीदवार जगरनाथ महतो हैं.

हालांकि आजसू रवींद्र पांडेय को लेकर भी टेंशन में है. पार्टी इसकी काट खोजने में लगी है. पर अब तक कोई ठोस मंत्र हाथ नहीं लग पाया है. लेकिन झामुमो के खिलाफ ट्विटर पर हमला जारी रखा है.

पहला ट्वीट: जो गुरूजी का नहीं हुआ वो किसका होगा

आजसू उम्मीदवार चंद्रप्रकाश चौधरी के निशाने पर जेएमएम के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन और जगरनाथ महतो हैं. चंद्रप्रकाश चौधरी ने ट्वीट कर कहा है कि आजसू और भाजपा ने गुरुजी (शिबू सोरेन) को पांच साल के लिये मुख्यमंत्री बनाया था.

इसे भी पढ़ेंः राहुल गांधी को SC का नोटिस, 22 अप्रैल तक मांगा जवाब

लेकिन हेमंत सोरेन की महत्वाकांक्षा ने गुरुजी को भी नहीं बख्शा. पांच महीने में ही मुख्यमंत्री पद से हटा दिया और आजसू भाजपा सरकार में खुद उपमुख्यमंत्री बन बैठे. जो शिबू सोरेन का नहीं हुआ वो और किसका होगा.

दूसरा ट्वीट: जनता टाइगर का जंगल राज खत्म करेगी

चौकीदार चंद्रप्रकाश चौधरी ने झामुमो उम्मीदवार जगरनाथ महतो को भी निशाने पर रखा है. ट्वीट कर कहा है कि जनता टाइगर (जगरनाथ महतो) का जंगल राज खत्म करेगी. महागठबंधन झारखंडी अस्मिता का सौदागर है. 15 साल से जनप्रतिनिधि रहे टाइगर (जगरनाथ महतो) के इलाके में गरीबी, बेकारी और आतंक का साम्राज्य है.

जनता टाइगर का जंगल राज खत्म करेगी और मोदी जी को चुनेगी. झामुमो उम्मीदवार को जगरनाथ महतो (टाइगर) को यह पता होना चाहिये कि नेता का सौदा हो चुका है. इस सौदे में लोकसभा में राहुल गांधी और विधानसभा में हेमंत सोरेन नेता होंगे. हालांकि झाविमो और राजद ने इस सौदे पर अपनी पूर्ण सहमति नहीं जताई है.

तीसरा ट्वीट: झामुमो का बयान हास्यास्पद

आजसू के स्वराज अभियान यात्रा को झामुमो ने कहा था कि यह चुनाव से जुड़ा है. इस पर आजसू पार्टी ने ट्वीट कर कहा कि स्वराज अभियान यात्रा के मकसद को लेकर पार्टी प्रमुख सुदेश महतो पहले ही अपना नजरिया जनता को पेश कर चुके हैं.
इसकी पहली लाइन में ही लिखा था कि स्वराज अभियान यात्रा का मकसद चुनावी आहटों से कतई जुड़ा नहीं है. झामुमो का इसे चुनाव से जोड़ना हास्यास्पद है.

इसे भी पढ़ेंःगिरिडीह के भेलवाघाटी में मुठभेड़, सीआरपीएफ का जवान शहीद, तीन नक्सलियों के शव बरामद

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: